बैंककर्मियों ने आंदोलन के दूसरे चरण में दूसरा प्रदर्शन सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया पर किया

0
0

वेतन पुनरीक्षण की माँग पर अड़े बैंककर्मियों के हड़ताल की ओर बढ़ते कदम

मार्च में 11, 12 व 13 को 3 दिन की राष्ट्रव्यापी बैंक हड़ताल, 01 अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल

अंतर्ध्वनि डेस्क हरदोई
__________________________________________

वेतन पुनरीक्षण की माँग को लेकर आंदोलनरत बैंककर्मियों ने आज मंगलवार को सेंट्रल बैंक आफ इंडिया पर विरोध प्रदर्शन किया। पिछली दो दिन के हड़ताल से ठीक एक दिन पहले हुई वार्ता के बाद बैंक प्रबंधतंत्र फिर चुप्पी साध कर बैठ गया है। बैंक मैनेजमेंट और यूनियंस में वार्ता के आसार न देख बैंककर्मी तीन दिन की हड़ताल की तैयारियों में तेजी से जुट गए हैं।

यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के बैनर तले 4 अधिकारी संगठन और 5 कर्मचारी संगठन वेतन पुनरीक्षण की माँग को लेकर आर पार की लड़ाई का एलान कर चुके हैं। मार्च महीने की 11, 12 व 13 तारीख़ को 3 दिन की हड़ताल के बाद 01 अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल के लिए बैंककर्मी तैयार हैं।

प्रदर्शनकारियों को सम्बोधित करते हुए यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियंस के स्थानीय संयोजक आर के पाण्डेय ने कहा कि दो दिवसीय हड़ताल के बाद 10 दिन बीत गए है पर बैंक प्रबंधतंत्र वार्ता की पहल नहीं कर रहा है। इससे बैंककर्मियों में भारी रोष है। यूएफबीयू के चेयरमैन मनोज सिंह ने कहा कि बैंक यूनियंस 20 फीसदी की वेतनवृद्धि की माँग कर रहे हैं और यह एक जायज माँग है जिसे बैंक मैनेजमेंट को मान लेना चाहिए।

सेंट्रल बैंक के अधिकारी नेता दीपक त्रिपाठी ने कहा कि सप्ताह में 5 दिन की बैंकिंग की माँग पर बैंक मैनेजमेंट स्थिति स्पष्ट नहीं कर रहा है। क्षितिज पाठक ने कहा कि नई पेंशन स्कीम की जगह पुरानी पेंशन स्कीम के दायरे में सभी बैंककर्मियों को लाया जाए। वर्षा मेहरोत्रा ने बैंकों में नई भर्ती शुरू करने की माँग पर जोर दिया।

प्रदर्शनकारियों में प्रमुख रूप से विभांशु, रोचिन सिन्हा, साधना, प्रकाश दुबे, नितिन गुप्ता, सर्वोदय, शिखा, आशुतोष, दिनेश, वैभव, रामकृपाल, अपूर्व, अनादि ब्रम्ह, दीपक बाजपेई, कौशलेंद्र शुक्ला, पीयूष वर्मा, राज कुमार, पवन मिश्र ,पवन रस्तोगी, अनामिका सिंह, अरविंद कुमार, संदीप, राजन शुक्ला, महिंद्र, वीर बहादुर, सुभाष पांडेय, प्रिया रस्तोगी, पूजा, आकांक्षा, निर्मला, मुकेश, लाखन मौजूद रहे।



Source

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here