संवाद से व संदेश लिखे पर्चे बांट कर किया जागरूक
आज कप्तान आलोक प्रियदर्शी ने स्थानीय वेणी माधव गर्ल्स इंटर कॉलेज पहुंचकर दीवाली के मौके पर बम-पटाखे, शोर वाली आतिशबाज़ी के खिलाफ जागरूकता फैलाने, साथ ही सुरक्षित दीवाली मनाने के उपायों को बताने के उद्देश्य से विद्यार्थियों को जागरूक किया।
इस अवसर स्कूली बच्चों से संवाद स्थापित करते हुए कप्तान ने कहा कि शोर वाले पटाखों से नुकसान होता है, आतिशबाज़ी अगर छुड़ानी ही है तो नियत समय रात्रि 8 से 10 के मध्य पूर्ण सुरक्षा के साथ ही छुडाएं साथ ही गरीबों, मज़लूमों के यहां इस दीवाली खुशियां बांटने को भी प्रेरित करें। इससे पूर्व उनका स्वागत कॉलेज प्रबंधक ने बुके देकर किया।
इस मौके पर प्रभारी निरीक्षक अग्निशमन ने कहा कि आतिशबाज़ी छुड़ाते हुए कॉटन के कपड़े पहनने हैं और साथ ही एक बाल्टी में पानी और मग भी रख लेना है। किसी भी अप्रिय स्थिति में प्रभावित अंग कुछ देर के लिए पानी मे रखना है। साथ ही पटाखों में पास से आग न लगाकर, कुछ दूरी से उन्हें जलाना है। उन्होंने बताया कि अगर पटाखों के कारण कहीं आग लगने जैसी स्थिति हो तो तुरंत 100 या 101 नंबर डायल करना है। उनकी बात को सभी बच्चों ने ध्यान से सुना और सवाल करने पर संतुष्टिपरक जवाब भी दिए। मौजूद सभी विद्यार्थियों को जागरूकता संदेश लिखा हुआ पर्चा कप्तान द्वारा बांटा गया।
आपको बताते चलें कि 1 नवंबर से स्कूलों में जाकर ये जागरूकता अभियान संचालित किया जा रहा है। अभी तक न्यू हाइट्स, श्रीश चंद्र पब्लिक स्कूल, बाल विद्या भवन, सेंट ज़ेवियर्स में पुलिस कप्तान के नेतृत्व में विद्यार्थियों को जागरूक किया जा चुका है। आज ही अपराह्न 1 बजे से रफी अहमद इंटर कॉलेज में विद्यार्थियों को जागरूक करने गठित पुलिस टीम पहुंचेगी। 5 नवंबर को सुबह 8 बजे सेठ एम आर जयपुरिया व सुबह 10 बजे आर्य कन्या इंटर कॉलेज की बड़ा चौराहा शाखा में विद्यार्थियों को ‘सेफ दीवाली’ के लिए जागरूक किया जाएगा। 6 नवंबर को अन्तर्ध्वनि सामाजिक व सांस्कृतिक संस्था द्वारा शाम 4 से 6 के मध्य ‘सेफ दीवाली’ पर नुक्कड़ नाटकों का आयोजन रेलवे गंज, नुमाइश चौराहा व सिनेमा चौराहा पर किया जाएगा।
आज कार्यक्रम के दौरान कॉलेज प्रबंधक नरेश गोयल, प्रधानाचार्या शैल शुक्ला, एलआईयू इंस्पेक्टर श्रीश शर्मा, महिला थानाध्यक्ष श्वेता द्विवेदी, समाजसेवी अविनाश मिश्रा, कुलदीप द्विवेदी आदि उपस्थित रहे।