विजय हज़ारे भारत के जानेमाने क्रिकेट खिलाड़ी थे। वह 1951 से 1953 के मध्य भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान रहे। उन्होंने अपनी कप्तानी में भारत को टेस्ट क्रिकेट में प्रथम सफलता दिलाई थी। सन् 1960 में उन्हें भारत सरकार ने ‘पद्म श्री’ से सम्मानित किया था।

उन्होंने महाराष्ट्र की तरफ से ‘रणजी ट्राफी’ में 18 वर्ष की उम्र में हिस्सा लिया था। उन्हें एक सुरक्षात्मक बल्लेबाज की संज्ञा दी जा सकती है। इंग्लैंड में लोगों की धारणा थी कि “जो स्थान ऑस्ट्रेलिया की क्रिकेट में सर ब्रेडमैन को प्राप्त है, इंग्लैंड में ग्रेस को प्राप्त है, वही स्थान भारतीय क्रिकेट में हज़ारे को मिलना चाहिए।” विजय हज़ारे रोमन कैथोलिक परिवार में पैदा हुए थे। उन्होंने बल्लेबाजी में 2000 से अधिक रन बनाने के साथ-साथ गेंदबाजी में भी 20 विकेट अपने नाम किये थे। इससे भी बढ़कर गौरवशाली बात यह है कि भारत ने सबसे पहले उन्हीं के नेतृत्व में अपनी पहली टेस्ट विजय प्राप्त की थी।

11 मार्च 1915 को जन्मे विजय हज़ारे को जन्मदिन की शुभकामनाएं।