12 जुलाई : मानवाधिकार कार्यकर्ता मलाला युसुफ़ज़ई का जन्मदिन है आज

0
6

मलाला युसूफजई। एक नन्हीं सी किरण। शिक्षा के लिए दृढ़ता से थिरकती ज्योति। पाकिस्तान में महिलाओं की शिक्षा के लिए आवाज़ उठाने वाली इस मासूम सी मानवाधिकार कार्यकर्ता को तालिबानी चरमपंथियों का शिकार होना पड़ा था।

मलाला यूसुफजई पर 9 अक्टूबर 2012 को तालिबान आतंकवादियों ने खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के स्वात घाटी में हमला किया था। जिसमें वह गंभीर रूप से घायल हो गई। मलाला के लिए देश-विदेश में प्रार्थना की गई और वह कामयाब भी रही। मलाला को इलाज के लिए ब्रिटेन के क्वीन एलिजाबेथ अस्पताल में भर्ती कराया गया था। मलाला वहां से स्वस्थ होकर लौटीं। बीते वर्ष 2012 में सबसे अधिक प्रचलित शख्सियतों में पाकिस्तान की इस बहादूर बाला मलाला युसूफजई के नाम रहा।

लड़कियों की शिक्षा के अधिकार की लड़ाई लड़ने वाली साहसी मलाला यूसुफजई की बहादुरी के लिए संयुक्त राष्ट्र द्वारा मलाला के 16वें जन्मदिन पर 12 जुलाई 2013 को मलाला दिवस घोषित किया गया। आज के ही दिन 1997 में जन्मी मलाला को जन्मदिन की ढेरों शुभकामनाएं।