सीएसएन कॉलेज में 18 अगस्त को 1000 से अधिक दिव्यांगों को 90 लाख से अधिक के उपकरण किए जाएंगे वितरित

0
7

राज्यसभा सांसद डॉ अशोक बाजपेई के प्रयासों से वरदान चैरिटेबल ट्रस्ट तथा एलिम्को कानपुर व जिला प्रशासन के सहयोग से दिसंबर माह में आयोजित हरदोई, शाहाबाद तथा सांडी के परीक्षण शिविर में चयनित 1000 से अधिक दिव्यांग जनों को 90 लाख से अधिक के सहायक उपकरण आगामी 18 अगस्त दिन रविवार को सुबह 10:00 बजे सीएसएन डिग्री कॉलेज के प्रांगण में वितरित किए जाएंगे। वितरण शिविर में उन्हीं चयनित दिव्यांगों को सहायक उपकरण प्रदान किए जाएंगे जिन्हें परीक्षण शिविरों में चयनित करते समय टोकन जारी किए गए थे।

यह जानकारी देते हुए वरदान चैरिटेबल ट्रस्ट के वरिष्ठ ट्रस्टी अरुणेश बाजपेई ने बताया कि वितरण शिविर में पधारने के लिए केंद्रीय राज्यमंत्री रामदास अठावले की स्वीकृति प्राप्त हुई है और वितरण शिविर समारोह की अध्यक्षता राज्य सभा सांसद डॉ अशोक बाजपेई करेंगे। वितरण शिविर की तैयारियों को लेकर एलमिको कानपुर से आए वरिष्ठ अधिकारी हरीश कुमार ने जिलाधिकारी पुलकित खरे, मुख्य विकास अधिकारी निधि गुप्ता तथा अन्य वरिष्ठ अधिकारियों से भेंट कर वितरण शिविर की तैयारियों पर चर्चा की। उन्होंने समाज कल्याण दिव्यांगजन सशक्तिकरण अधिकारी हर्ष मवाल तथा ट्रस्ट के ट्रस्टियों के साथ वितरण शिविर के लिए स्थानों के परीक्षण के पश्चात सीएसएन कॉलेज का चयन किया और उस हेतु जिलाधिकारी का अनुमोदन प्राप्त किया।

इस शिविर में 750 से अधिक दिव्यांग जनों को ट्राई साइकिल, लगभग 200 दिव्यांग जनों को व्हीलचेयर तथा अन्य 100 से अधिक दिव्यांगों को कान की मशीन तथा अन्य उपकरण वितरित किए जाएंगे। इस अवसर पर जहां विकलांग जनों और उनके सहयोगियों के साथ दो हजार से अधिक लोगों के आने की उम्मीद है वहीं जनपद के गणमान्य नागरिक और अन्य सांसद तथा जनप्रतिनिधि भी उपस्थित रहेंगे। ट्रस्ट के प्रबंध न्यासी एके चतुर्वेदी ने ट्रस्टी जनों को शिविर के सफलतापूर्वक संचालन के निर्देश दिए। ट्रस्ट के सचिव अतुल कांत द्विवेदी भी ट्रस्ट के इस शिविर की तैयारियों को लेकर कल हरदोई पहुंच रहे हैं। शाहाबाद तथा सांडी में आयोजित प्रशिक्षण शिविरों के संयोजक अजय बाजपेई, राजेश चंद्र उर्फ पप्पू पाठक तथा अनिल मिश्र को वहां चयनित दिव्यांगों को ट्रस्ट की ओर से सूचित करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। हरदोई शहर के परीक्षण शिविर में चयनित दिव्यांगों को ट्रस्ट के ट्रस्टी फखरुल इस्लाम, आलोक श्रीवास्तव, करुणा शंकर द्विवेदी तथा ट्रस्ट के अन्य सहयोगी गणों द्वारा सूचना दिए जाने की कार्यवाही आरंभ कर दी गई है।