1987 क्रिकेट विश्व कप : ऑस्ट्रेलिया ने पहली बार जीता विश्व कप

0
16

इंग्‍लैंड में लगातार तीन क्रिकेट विश्‍व कप का आयोजन होने के बाद 1987 का विश्व कप (Cricket World Cup 1987) पहली बार इंग्लैंड से बाहर आयोजित किया गया। 1987 के विश्व कप की मेजबानी भारत और पाकिस्तान ने संयुक्त रूप से की थी। चौथे क्रिकेट विश्व कप का नाम इस के प्रायोजक रिलायंस कंपनी के नाम पर रिलायंस विश्व कप रखा गया था। इस विश्व कप में पहली बार एक पारी में कुल ओवरों की संख्या 60 से घटाकर 50 कर दी गयी थी। खिलाड़ियों को सफेद रंग की पारंपरिक पोशाक पहन कर मैच खेलना अनिवार्य था। साथ ही मैच में लाल रंग की क्रिकेट गेंद का प्रयोग किया गया था।

क्रिकेट विश्व कप 1987 (Cricket World Cup 1975) में आठ टीमों (भारत, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, जिम्बाब्वे, पाकिस्तान, इंग्लैंड, वेस्टइंडीज और श्रीलंका) को शामिल किया गया था। टीमों को दो ग्रुप में विभाजित किया गया था। क्रिकेट विश्व कप के इतिहास में पहली बार वेस्टइंडीज की टीम सेमीफाइनल में भी नहीं पहुंच पाई थी। भारतीय क्रिकेट टीम सेमीफाइनल में इंग्लैंड की टीम से हारकर प्रतियोगिता से बाहर हुई थी।

विश्व कप 1987 का फाइनल कोलकाता के ईडन गार्डन में इंग्‍लैंड और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया था। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 50 ओवर में पांच विकेट पर 253 रन बनाए थे, जिसके जवाब में इंग्लैंड की टीम 246 रन ही बना सकी। इस तरह एलन बोर्डर की कप्तानी में ऑस्ट्रेलिया ने सात रन से जीत हासिल कर विश्व कप पर पहली बार कब्‍जा किया था।

भारत का सफर

भारतीय टीम ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और जिम्बॉब्वे के साथ ग्रुप ए में थी। यहां से भारत ने सेमीफाइनल में जगह बनाई और उसका सामना इंग्लैंड से हुआ। भारत सेमीफाइनल में हार गया और यहीं उसका वर्ल्ड कप 1987 का सफर खत्म हुआ।