31 अगस्त : प्रसिद्ध कवयित्री, उपन्यासकार व निबंधकार अमृता प्रीतम का आज है जन्मदिवस

0
39

अमृता प्रीतम प्रसिद्ध कवयित्री, उपन्यासकार और निबंधकार थीं, जिन्हें 20वीं सदी की पंजाबी भाषा की सर्वश्रेष्ठ कवयित्री माना जाता है। इनकी लोकप्रियता सीमा पार पाकिस्तान में भी बराबर है। इन्होंने पंजाबी जगत में छ: दशकों तक राज किया। अमृता प्रीतम ने कुल मिलाकर लगभग 100 पुस्तकें लिखी हैं, जिनमें उनकी चर्चित आत्मकथा ‘रसीदी टिकट’ भी शामिल है। अमृता प्रीतम उन साहित्यकारों में थीं, जिनकी कृतियों का अनेक भाषाओं में अनुवाद हुआ। अपने अंतिम दिनों में अमृता प्रीतम को भारत का दूसरा सबसे बड़ा सम्मान ‘पद्म विभूषण’ भी प्राप्त हुआ। उन्हें ‘साहित्य अकादमी पुरस्कार’ से पहले ही अलंकृत किया जा चुका था।

31 अगस्त 1919 को जन्मी अमृता प्रीतम को जन्मदिवस पर शत शत नमन।