हरदोई : 07 सूत्रीय मांगों को लेकर सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने किया प्रदर्शन

0
11

सुनील अर्कवंशी : योगी सरकार में सभी तबके त्रस्त, कानून व्यवस्था पड़ी है धड़ाम

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर की आवाज़ पर आज कलेक्ट्रेट में जिला अध्यक्ष धर्म सिंह की अध्यक्षता में प्रमुख सात सूत्री मांगपत्र को लेकर जोरदार प्रदर्शन किया। धरना सभा को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि प्रदेश महासचिव/पूर्व सदस्य राज्य एकीकरण परिषद सुनील अर्कवंशी ने योगी सरकार को जनविरोधी बताया। कहा कि भाजपा सरकार की कथनी करनी में भारी अंतर है।

अर्कवंशी ने कहा, इस सरकार में किसान, मजदूर, बेरोजगार, व्यापारी वर्ग का हाल बेहाल है। कानून व्यवस्था की दशा ये है कि बहू-बेटियां बिल्कुल सुरक्षित नहीं हैं। आए दिन लूट, हत्या, बलात्कार के साथ भ्रष्टाचार रोकने में सरकार नाकाम है।गरीब आवास, शौचालय, पेयजल और नौकरी के लिए त्राहि – त्राहि कर रहे हैं। भाजपा सरकार विकास का बस झूठा ढोल पीट रही है। इस सरकार में सिर्फ भाजपा नेताओं, मंत्रियों, नौकरशाहों की झोली भरी जा रही है। जनता तहसीलों और थानों के चक्कर लगाती है, काम बिना घूस के नहीं हो रहा है। घूस न मिलने पर उल्टा फंसाया जा रहा है।

प्रदेश महामंत्री ने कहा, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी दलितों और पिछड़ों के हक की लड़ाई लड़ रही है। योगी सरकार में दलितों का सबसे ज्यादा उत्पीड़न हो रहा है। भाजपा सरकार केवल कुछ जाति विशेष का काम कर रही है। अर्कवंशी की अगुवाई में मुख्यमंत्री को सम्बोधित 07 सूत्रीय ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा गया। पार्टी ने सामाजिक न्याय समिति की रिपोर्ट त‌त्काल लागू करने, पृथक पूर्वांचल राज्य गठन, शिक्षा का राष्ट्रीयकरण कर एक समान शिक्षा देने, बिहार की तर्ज पर प्रदेश में भी शराब बंदी करने, आरक्षण का वर्गीकरण करके ही नौकरियों में भर्तियां करने, महिलाओं को 50 प्रतिशत आरक्षण देने, किसानों को 05 हॉर्स पॉवर बिजली मुफ्त और कृषि यंत्र, बीज, खाद, लागत मूल्य देने की मांग उठाई है।

प्रदेश महामंत्री अर्कवंशी ने कहा, जायज मांगों को धरना के माध्यम से पहुंचाना चाहते हैं। सरकार इन मांगों को जल्द से जल्द पूरा नहीं करती है, तो पार्टी आगे सड़क से सदन तक संघर्ष कर सरकार को बाध्य करेगी। अब पार्टी किसी के आगे झुकने वाली नहीं है। कार्यकर्ता आर-पार की लड़ाई लड़ने के लिए पूरी तरह तैयार है। धरना-प्रदर्शन में वेदप्रकाश अर्कवंशी, विनोद अर्कवंशी, शिवकुमार अर्कवंशी, पुत्तीलाल, राकेश अर्कवंशी, पारस नाथ आशू अर्कवंशी राममूर्ति अर्कवंशी, विनोद अर्कवंशी, राकेश अर्कवंशी सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।