आज राष्ट्र की निगाहें हैं वाघा बॉर्डर पर, अभिनंदन के अभिनंदन को

0
22

आज पूरे देश की निगाहें वाघा बॉर्डर पर हैं। हिंदुस्तान का जांबाज पायलट विंग कमांडर अभिनंदन आने वाला है। भारत ने ऐसा कड़ा रुख अख्तियार किया कि इस्लामाबाद की एक नहीं चली। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को खुद अभिनंदन को रिहा करने का ऐलान करना पड़ा। इस्लामाबाद में भारतीय ग्रुप कैप्टन जेडी कुरियन अभिनंदन को लेकर आएंगे।

पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह समेत वायुसेना के बड़े अधिकारी और मोदी सरकार के कई मंत्री भी बाघा बॉर्डर पर अभिनंदन का स्वागत करेंगे। इससे पहले अमरिंदर सिंह ने ट्विटर पर लिखा, मैं पंजाब के सीमावर्ती क्षेत्रों का दौरा कर रहा हूं और मैं वर्तमान में अमृतसर में हूं। पता चला कि पाकिस्तान सरकार ने वाघा से अभिनंदन को भेजने का फैसला किया है। यह मेरे लिए सम्मान की बात होगी कि मैं उसके स्वागत में वहां रहूं और उसे रिसीव करूं, क्योंकि वह और उसके पिता एनडीए के पूर्व छात्र हैं।

भारत ने ऐसा सख्त रुख अपनाया कि पाकिस्तान के पीएम इमरान खान को 30 घंटे के भीतर ही ऐलान करना पड़ा कि भारतीय पायलट को बिना शर्त रिहा किया जाएगा। आज विंग कमांडर अभिनंदन की वतन वापसी हो रही है, तो पूरा देश अभिनंदन – अभिनंदन कर रहा है। जानकारी के मुताबिक विदेश मंत्रालय ने पाकिस्तान को साफ कर दिया था कि बगैर किसी चोट के पायलट की जल्द रिहाई होनी चाहिए, सौदेबाजी का तो सवाल ही नहीं उठता है।

भारत कांसुलर एक्सेस की मांग नहीं कर रहा बल्कि फौरन रिहाई की मांग कर रहा है। पाकिस्तान को चेतावनी भरे लहजे भारत ने कहा था कि अगर पायलट को कुछ हुआ, तो वो एक्शन के लिए तैयार रहें। भारत के लिए खुशी की बात है कि पायलट अभिनंदन आज सकुशल स्वदेश लौट आएंगे।

हालांकि, विंग कमांडर अभिनंदन की रिहाई का एलान करने से पहले पाकिस्तान ने जमकर सौदेबाजी का संकेत दिया था। पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉक्टर मुहम्मद फैजल ने कहा था कि पाकिस्तान के कब्जे में भारतीय पायलट सुरक्षित और स्वस्थ है। भारत ने हमसे पायलट का मुद्दा उठाया था। कुछ दिनों में हम फैसला करेंगे कि कौन सी संधि उस पर लागू होगी और भारतीय पायलट को युद्धबंदी दर्जा दिया जाए या नहीं।
इसके बाद पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने पाकिस्तान के एक टीवी चैनल से कहा था कि अगर पायलट की रिहाई से डि-एस्केलेशन होता है यानी तनाव घटता है तो पाकिस्तान पायलट को भी लौटाने के लिए तैयार है। कुरैशी ने साथ ही कहा कि पाकिस्तान पीएम इमरान खान, भारत के पीएम नरेंद्र मोदी को फोन करने को तैयार हैं।

क्या है पूरा मामला

गौरतलब है कि 14 फरवरी को पुलवामा में हुए आत्मघाती आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। इसी के तेरह दिन बाद जवाबी कार्रवाई करते हुए भारत ने पाकिस्तान के अंदर घुसकर एयर स्ट्राइक करते हुए जैश के आतंकी अड्डों को ध्वस्त कर दिया था। इसके बाद पाकिस्तान ने भी एयरस्ट्राइक की कोशिश की, लेकिन भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के विमानों को खदेड़ दिया और एक विमान को मार गिराया। इस दौरान हमारा मिग-21 भी दुर्घटनाग्रस्त हो गया और विंग कमांडर अभिनंदन पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में सुरक्षित उतर गए। इसके बाद पाकिस्तान आर्मी ने उन्हें बंदी बना लिया।