आपात प्रेस कॉन्फ्रेंस में काँग्रेस ने ज़िला प्रशासन पर लगाए गंभीर आरोप

0
7

कहा, स्थानीय पुलिस और होमगार्ड्स हैं बूथों में जबकि पैरा मिलिट्री फोर्स कर रही वाहनों की जांच

हरदोई लोकसभा एवं मिश्रिख लोकसभा में आम चुनाव 2019 के लिए मतदान हो रहा है। आज एक आपात प्रेस कॉन्फ्रेंस के ज़रिए काँग्रेस ने काफी गंभीर आरोप लगाए हैं।

कॉन्फ्रेंस में कहा गया कि भारत निर्वाचन आयोग के नियमों की खुलेआम जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन द्वारा धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। जनपद के शहरी और ग्रामीण बूथों मतदान केंद्र पर स्थानीय पुलिस और होमगार्ड्स को वोट डलवाने की प्रक्रिया का ज़िम्मा सौंपा गया है और निर्वाचन आयोग के द्वारा भेजी गई पैरा फोर्सेस को सड़कों पर वाहनों की जांच के लिए लगाया गया है, जो खुलेआम भाजपा सरकार की तानाशाही को दर्शाता है।कहा, यह बेहद निंदनीय घटना है।

जिलाध्यक्ष डॉ राजीव सिंह लोधी ने कहा कि उन्होंने और हरदोई लोकसभा से काँग्रेस प्रत्याशी वीरेंद्र कुमार ने सुबह 9:30 बजे से दोपहर 2:30 तक हरदोई शहर के सभी बूथों और ब्लॉक शाहाबाद, टड़ियावां के भड़ायल सहित सैकड़ों बूथों पर पहुंचकर प्रशासन की तैयारियों और पैरा फोर्सेस की उपस्थिति का भौतिक निरीक्षण किया तो हकीकत सामने आई कि जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन की मिलीभगत से सत्तासीन योगी सरकार और भाजपा प्रत्याशियों की खुलेआम मदद की जा रही है और चुनाव आयोग के दिशा निर्देशों की अवहेलना की जा रही है। कहा कि भाजपा सत्ता का खुला दुरुपयोग करके पुनः सत्ता में वापसी चाहती है जनता उनके मंसूबे पूरे नहीं होने देगी। प्रशासन का सौतेला व्यवहार चिंताजनक और दुर्भाग्यपूर्ण है।

काँग्रेस प्रत्याशी वीरेंद्र कुमार ने कहा कि हरदोई में लोकतंत्र की खुलेआम हत्या हो रही है। प्रशासन भाजपा के हाथों की कठपुतली बन गया है। लोकतंत्र को मजाक बना दिया गया है। प्रशासन ने सोची समझी साजिश के तहत ऐसा किया है। आरोप लगाया कि पूर्व के संपन्न हुए चरणों में ऐसा कहीं नहीं पाया गया। प्रदेश सचिव विक्रम पांडेय ने कहा कि मोदी जी संवैधानिक संस्थाओं का गला घोटकर लोकतंत्र समाप्त करना चाह रहे हैं। देश में तानाशाही लाना चाहते हैं जो लोकतंत्र के लिए दुखद है। प्रदेश सचिव युवा देवेंद्र विक्रम ने कहा कि मोदी सरकार अपनी नाकामियों को छिपाने का काम कर रही है। देश को गुमराह किया जा रहा है। इस अवसर पर महासचिव आशुतोष गुप्ता उपस्थित रहे।