09 व 10 फ़रवरी को होगी बैठक, आरएसएस के अनुषांगिक संगठन का 92 में हुआ गठन

विधिक रामराज्य की स्थापना है उद्देश्य, बैठक में दोनों दिन उपस्थित रहेंगे चोटी के विधि-वेत्ता

अधिवक्ता परिषद की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक 09 व 10 फ़रवरी को नघेटा रोड स्थित आरआर कॉलेज में होगी। पहले दिन उद्घाटन सत्र में परिषद के पूर्व कार्यों पर चर्चा के साथ आगामी कार्य योजना पर सुझाव एकत्र किए जाएंगे। परिषद के जिला महामन्त्री मानवेन्द्र सिंह ने आज पत्रकारों से बातचीत में प्रदेश कार्य समिति बैठक और संगठन के स्वरूप की जानकारी दी।

जिला महामन्त्री मानवेन्द्र सिंह ने बताया राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के अनुषांगिक संगठनों अखिल भारतीय परिषद और भारतीय मजदूर संघ के संस्थापक दत्तोपंत ठेंगडी ने अधिवक्ता परिषद की स्थापना 23 जुलाई 1992 को की थी। तब राम मन्दिर आन्दोलन चरम पर था और उस मामले में विधिक सहायता के लिए अधिवक्ता संगठन की तात्कालिक आवश्यकता थी। परिषद राष्ट्रवादी दृष्टि व विचार वाला संगठन है। संगठन की मंशा विधि व्यवसायियों व न्याय पालिका के मध्य विधिक रामराज्य को प्रोत्साहित करना है। परिषद विधि के माध्यम से समाज में जागरूकता पैदा कर आमजन खासकर निर्बल वर्ग को विधिक सहायता प्रदान करती है।

जिला महामन्त्री के अनुसार प्रदेश कार्य समिति की बैठक में परिषद के संस्थापक व संरक्षक लाल बहादुर सिंह, इलाहाबाद हाई कोर्ट में अपर महाधिवक्ता श्रीकृष्ण पहल, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शशि प्रकाश सिंह, प्रदेश अध्यक्ष दुष्यन्त उपाध्याय, प्रदेश उपाध्यक्ष गौरी शंकर पाण्डेय, प्रदेश महामन्त्री चरन सिंह त्यागी, प्रदेश कोषाध्यक्ष श्री प्रकाश सिंह, मंत्री विपिन त्यागी व अश्वनी त्रिपाठी सहित सभी कार्य समिति सदस्य मौजूद रहेंगे। प्रदेश कार्य समिति बैठक का संयोजक अरविन्द सिंह व स्वागताध्यक्ष अविनाश मिश्रा को बनाया गया है। परिषद जिला उपाध्यक्ष गिरीश श्रीवास्तव, उमेश पाल सिंह, रामेन्द्र अग्निहोत्री, रजनीश सिंह, विवेक चौहान, देवेन्द्र सिंह चौहान, चन्दन सिंह, बालिका नन्दन गुप्ता, रोहित द्विवेदी, गिरीश मिश्रा, अग्नि खरे, कृपाल राठौर आदि कार्यक्रम में सहयोग करेंगे।

फेसबुक से टिप्पणी करें

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here