आर्टिकल 370, 35A के खात्मे पर सदर व मिश्रिख सांसद का हुआ अभिनंदन

0
11

भाजपा हरदोई ज़िला दफ़्तर पर समारोह पूर्वक पीएम व गृहमंत्री को धन्यवाद ज्ञापित

सौरभ : मोदी और शाह ने भारत के भाल पर सजाया सम्पूर्ण स्वतंत्रता का मुकुट

जम्मू और कश्मीर से धारा 370 व 35A हटाए जाने पर भाजपा ज़िला कार्यालय में आज धन्यवाद कार्यक्रम आयोजित कर सदर सांसद जय प्रकाश रावत और मिश्रिख सांसद अशोक रावत का अभिनंदन किया गया। इस अवसर पर वक्ताओं ने कहा, भारतीय जनसंघ और उसके बाद भारतीय जनता पार्टी ने अनुच्छेद 370 से आज़ादी के लिए 07 दशक लम्बा संघर्ष किया। शलाका पुरुष डॉ0 श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने इस संघर्ष में प्राण उत्सर्ग कर दिए। उनकी आत्मा आज हर्षित हो रही होगी।

मुख्य अतिथि किसान मोर्चा प्रदेश महामंत्री व ज़िला प्रभारी सुधीर सिंह सिद्धू ने कहा, प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की अदूरदर्शिता का खामियाजा रियासत अभी तक भुगतती रही। वहां का विकास अवरुद्ध रहा। निवासी शिक्षा व स्वास्थ्य जैसे मौलिक अधिकारों और आवश्कताओं से वंचित रहे। घाटी आतंक की आग में झुलसती रही और अब तक 42 हजार ज़िंदगियां काल के गाल में समा गईं। पंचायती राज व्यवस्था लागू होने के बाद भी ग्राम पंचायतों के चुनाव नहीं कराए जाने से ग्रामीण विकास कार्यक्रम का लाभ नहीं मिला। मोदी राज में रियासत में गवर्नर रूल में पंचायत चुनाव निर्विघ्न हुए और गांवों के विकास का चक्का घूम रहा है।

अध्यक्षता कर रहे जिलाध्यक्ष सौरभ मिश्र नीरज ने कहा, घाटी की तस्वीर बदलने से स्पष्ट हो गया है कि मोदी है तो मुमकिन है। कांग्रेस की भूल प्रधानमंत्री ने जिजीविषा के साथ परिमार्जित की। गृहमंत्री ने सरदार पटेल सा कलेजा दिखाया और 370 अतीत का विषय बनाने की दृढ़ता दिखाई। कहा, मोदी ने भारत के भाल पर सम्पूर्ण स्वतंत्रता का मुकुट सजा दिया है। जम्मू और कश्मीर अब पीछे मुड़ के नहीं देखेंगे। मोदी के नेतृत्व में घाटी मुख्यधारा में शामिल हो अपनी तक़दीर और तदवीर बदलेगी। कार्यक्रम को सदर सांसद जय प्रकाश व मिश्रिख सांसद अशोक रावत, शाहाबाद विधायक रजनी तिवारी, सवायजपुर विधायक माधवेन्द्र प्रताप सिंह रानू, पालिकाध्यक्ष सुख सागर मिश्रा, कार्यक्रम संयोजक पूर्व जिलाध्यक्ष राम बहादुर सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष राजीव रंजन मिश्रा व निवर्तमान जिलाध्यक्ष श्री कृष्ण शास्त्री ने भी सम्बोधित किया। संचालन जिला महामंत्री राजेश अग्निहोत्री ने किया।

कार्यक्रम में स्टेट एससीएसटी कमीशन के पूर्व सदस्य व पूर्व भाजपा जिला उपाध्यक्ष प्रदीप कुमार ‘पीके वर्मा’, जिला उपाध्यक्ष अजीत सिंह बब्बन, सुनीता सिंह व अनुपमा सिंह, जिला महामंत्री व सदस्यता अभियान प्रभारी कर्मवीर सिंह चौहान, जिला कोषाध्यक्ष डॉ0 अनुज गुप्ता, जिला कार्यसमिति सदस्य पारुल दीक्षित, मीडिया प्रभारी गांगेश पाठक, सहकारी शीतगृह लिमिटेड सभापति अमित दीक्षित, युवा मोर्चा क्षेत्रीय महामंत्री लोकेश सिंह, महिला मोर्चा की क्षेत्रीय कार्यसमिति सदस्य पूजा मिश्रा, नगर अध्यक्ष अजीत उपाध्याय, युवा मोर्चा निवर्तमान जिलाध्यक्ष सन्दीप सिंह, युवा मोर्चा जिलाध्यक्ष आकाश सिंह, महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष अलका गुप्ता, आईटी सेल जिला संयोजक सौरभ सिंह गौर, नगर उपाध्यक्ष सुमित त्रिपाठी, युवा मोर्चा जिला उपाध्यक्ष गीत सिंह गौर एडवोकेट व आकाश मिश्रा, लघु प्रकोष्ठ संयोजक पंकज शुक्ला, नीरज तिवारी, संजय वर्मा, सवायजपुर विधायक प्रतिनिधि रजनीश कुमार त्रिपाठी, दीपांशु सिंह सोमवंशी, अनिल सिंह पिन्टू, राजन सिंह पचकोहरा, उमेश पाठक सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।
***

सौरभ : विकास मिश्रा के परिजनों को मिलेगा न्याय

पत्रकारों से बातचीत में भाजपा जिलाध्यक्ष सौरभ मिश्र ने कहा, हरपालपुर काण्ड के दोषियों को कतई बख्शा नहीं जाएगा। हत्यारों को उनके अंजाम तक पहुंचा कर विकास की पत्नी सुधा और बेटे अंकित को न्याय दिलाया जाएगा। हरपालपुर पुलिस की संदिग्ध भूमिका पर कहा, विभागीय जांच हो रही है और जो भी दोषी होगा, बचेगा नहीं। सपा के पूर्व जिलाध्यक्ष पद्मराग सिंह यादव की चेतावनी पर कहा, क्षेत्र में जातिवाद की राजनीति करने वाले केवल निजी स्वार्थ साध रहे हैं। लोग सब समझते और जानते हैं। पुलिस अपना काम कर रही है और जल्दी ही सकारात्मक परिणाम सामने होगा।
***

रानू ने की सुधा और अंकित की मिजाजपुर्सी

सवायजपुर विधायक माधवेन्द्र प्रताप सिंह रानू आज हरपालपुर काण्ड के पीड़ितों से मिलने जिला अस्पताल पहुंचे। उन्होंने मारे गए विकास की पत्नी सुधा और पुत्र अंकित से भेंट कर ढांढस बंधाया। आश्वस्त किया कि, इस अमानवीय कृत्य को अंजाम देने वालों पर हर हाल में कठोर कार्यवाही सुनिश्चित होगी। लापरवाही बरतने वाले पुलिस कर्मियों की जांच करवा कड़ी कार्यवाही कराई जाएगी। विधायक ने सुधा और अंकित के इलाज में कोताही ना बरतने के मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए। इस दौरान विधायक प्रतिनिधि रजनीश कुमार त्रिपाठी और दीपांशु सिंह सोमवंशी मौजूद रहे।