हरदोई : अटल के जन्मदिवस पर गंगा जागरूकता गोष्ठी का आयोजन

0
12
सौरभ मिश्र : मोदी और योगी सरकारों ने बनाया अटल जी के संकल्पों को पथ-प्रदर्शक
भाजपा जिलाध्यक्ष ने एससीएसटी एक्ट को लेकर केंद्र सरकार को निशाना बनाने वालों को लिया आड़े हाथ
पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी के निधन उपरांत उनके पहले जन्मदिवस को बूथ स्तर पर मनाया। भाजपा जिलाध्यक्ष सौरभ मिश्र ‘नीरज’ ने अपने पैतृक गांव गुजीदेई में अटल जी के जन्मदिवस पर आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। गंगा विचार मंच के जिला संयोजक सुशील अवस्थी ‘छोटे महाराज’ ने लखनऊ रोड़ स्थित अटल बिहारी बाजपेयी नगर में गंगा जागरूकता गोष्ठी और भण्डारे का आयोजन किया। अटल जी के चित्र पर पुष्पांजलि के साथ कार्यक्रम शुरू हुआ। इस मौके पर तहरी व खिचड़ी का भण्डारा भी हुआ।
गोष्ठी के मुख्य अतिथि भाजपा जिलाध्यक्ष सौरभ मिश्र ने कहा, अटल जी ने जनसंघ से लेकर भाजपा की जड़ों को सींच संगठन को वटवृक्ष बनाया। अटल जी ने राजनीति में शुचिता और नैतिकता के जो मापदण्ड स्थापित किए, उसकी मिसाल नहीं मिलती। उन्होंने 01 मत से विश्वास प्रस्ताव गिरने से सत्ता का त्याग करना स्वीकार किया और खरीद-फरोख्त की राजनीति करने वालों के सामने अतुलनीय दृष्टान्त रखा। कहा, आज केंद्र सरकार को एससीएसटी एक्ट के मुद्दे पर सोशल मीडिया पर घेरा जा रहा है। जिन्होंने एक्ट पढ़ा भी नहीं और आलोचना कर रहे हैं। जो ऐसा कर रहे हैं वो पहले वाले एक्ट और ताज़ा एक्ट दोनों सामने रख लें। कोई भी अंतर मिल जाए तो बताएं। जिलाध्यक्ष ने कहा, ताज़ा एक्ट से पहले दलित उत्पीड़न के मामलों और बाद के मामलों के साल दर साल के आंकड़े देख लें, साफ़ हो जाएगा किस सरकार में मामले अधिक दर्ज हुए। उन्होंने दावे से कहा कि दलित उत्पीड़न के मामलों में दलित किसी ना किसी सवर्ण का मोहरा होता है। ऐसा ग्राम पंचायत की राजनीति व राशन कोटा की राजनीति में विरोधियों को प्रताड़ित करने की नीयत से सवर्ण ही करते हैं।
भाजपा जिलाध्यक्ष ने कहा, मोदी सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ सबसे अधिक उन दलितों और अल्पसंख्यकों को मिला है, जो भाजपा का कोर वोट भी नहीं हैं। भविष्य में भी इनका वोट पार्टी को मिलेगा, इस पर संशय है। लेकिन हमारी सरकार सबका साथ सबका विकास की नीति पर चलते हुए पारदर्शिता से योजनाओं का लाभ इस वर्ग को दे रही है। सौरभ ने कहा, गंगा को निर्मल बनाने की दिशा में साढ़े चार साल में जितना काम जमीन पर हुआ है, पहले कभी नहीं हुआ। कानपुर में इस परिवर्तन को देखा जा सकता है। बड़ी संख्या में नाले गंगा में गिरने से बंद कराए गए हैं। कल ही सबसे बड़ा नाला गिरना बंद कराया गया है। गंगा पूरी तरह निर्मल हो, इसके लिए सरकारी प्रयास काफी नहीं है। इस आंदोलन में जन भागीदारी जरूरी है। हम जागेंगे और अपनी जिम्मेदारी निभाएंगे, तभी गंगा निर्मल होगी।
गोष्ठी की अध्यक्षता निवर्तमान नगर अध्यक्ष सुभाष पाण्डेय ने की। गोष्ठी को विशिष्ट अतिथि भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष/राष्ट्रीय परिषद सदस्य राम बहादुर सिंह, निवर्तमान जिलाध्यक्ष श्री कृष्ण शास्त्री, आयोजक छोटे महाराज, भाजपा जिला उपाध्यक्ष आज़ाद भदौरिया व अजीत सिंह ‘बब्बन’, वरिष्ठ नेता अभय शंकर शुक्ला, के. बी. सिंह व सुनील शुक्ला, नगर अध्यक्ष अजित उपाध्याय, सहकारी शीतगृह सभापति अमित दीक्षित, आईटी सेल जिलाध्यक्ष सौरभ सिंह गौर, भाजयुमो के निवर्तमान महामन्त्री अर्जुन सिंह, भारतीय कृषक दल अध्यक्ष सरोज दीक्षित, व्यापारी नेता सुरेन्द्र सिंह गौर, पत्रकार संघ संयोजक सुधांशु मिश्रा, अधिवक्ता सत्यम तिवारी व नीतू चन्द्रा, समाजसेवी अंजलि सिंह, अन्तर्धनि के समाचार सम्पादक बृजेश ‘कबीर’ ने भी सम्बोधित कर अटल जी को श्रद्धांजलि दी। इस अवसर पर भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष राम किशोर गुप्ता ‘गुड्डू’, भाजपा नेता शैलेन्द्र सिंह भवानी, राम जी गुप्ता, सहकारी संस्था अध्यक्ष रीतेश गुप्ता, अनुराग श्रीवास्तव थमरवा, अनुराग मिश्रा, अंकित पाण्डेय, संतोष सिंह, अरुण अग्निहोत्री, मनीष द्विवेदी, शानू मिश्रा, राजन सिंह, भाजपा कार्यालय प्रभारी सत्यम शुक्ला, सूर्या शुक्ला और सांसद डॉ0 अशोक बाजपेयी के मीडिया प्रभारी धीरज गुप्ता सहित तमाम लोग मौजूद रहे।
***

हरदोई में आबाद होगा भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी नगर

मुरारी लाल पाठक व पुनीत खन्ना फल-सब्जी मण्डी से सटी हुई जमीन पर प्लॉटिंग करा रहे है। भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष/राष्ट्रीय परिषद सदस्य राम बहादुर सिंह के अनुरोध पर नई बसावट को पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी का नाम दे दिया है। इसी आशय का बोर्ड भी मुख्य द्वार पर लगा दिया गया। इसके बाद ही आज अटल जी के जन्मदिवस पर गंगा जागरूकता गोष्ठी और भण्डारे का आज वहां आयोजन हुआ। राम बहादुर ने पाठक और खन्ना द्वारा उनका अनुरोध स्वीकार किए जाने पर कृतज्ञता जताई। बता दें, अटल जी के निधन के बाद हुए एक कार्यक्रम में पूर्व सांसद नरेश अग्रवाल ने आवास विकास कॉलोनी का नामकरण अटल जी के नाम पर किए जाने का सुझाव दिया था।