अयोध्या मामले को मध्यस्थता से सुलझाने का सुप्रीम कोर्ट का आदेश

0
27

सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले पर तीन मध्यस्थ नियुक्त किए हैं

अदालत ने कहा है कि मध्यस्थता की कार्यवाही पर मीडिया रिपोर्ट नहीं कर सकेगा। कोर्ट ने जस्टिस ख़लीफ़ुल्लाह (रिटायर्ड) के नेतृत्व में तीन सदस्यीय मध्यस्थता समिति का गठन किया है।

इस समिति में श्री श्री रविशंकर और सीनियर एडवोकेट श्रीराम पांचू शामिल हैं। अदालत ने कहा है कि मध्यस्थ चाहें तो समिति में और सदस्यों को भी शामिल कर सकते हैं। अदालत के आदेश के मुताबिक मध्यस्थता की प्रक्रिया अगले एक हफ़्ते में शुरू कर देनी होगी।

अदालत का आदेश है कि मध्यस्थता बंद कमरे में और पूरी तरह गोपनीय होगी। आदेश के मुताबिक़ मध्यस्थता की कार्यवाही फ़ैज़ाबाद में होगी।

उच्चतम न्यायालय ने ये भी कहा है कि मध्यस्थता की प्रक्रिया आठ हफ्तों में पूरी होनी चाहिए।