एससी-एसटी एक्ट पर भारत बंद, हो रहा उग्र प्रदर्शन
एससी-एसटी एक्ट में संशोधन के खिलाफ सवर्णों के करीब 35 संगठनों की ओर से गुरुवार को किए गए भारत बंद के आह्वान का देशभर में असर देखने को मिल रहा है। मध्यप्रदेश में जहां ड्रोन कैमरे से नज़र रखी जा रही है, वहीं बिहार में लोग उग्र हो गए हैं।
आरा में बंद समर्थकों ने बाज़ारों को बंद कराने के साथ ही ट्रेनें भी रोकी हैं। आरा के अलावा दरभंगा और पटना में बड़े पैमाने पर विरोध किया जा रहा है। सवर्ण समाज का कहना है कि वो किसी खास समुदाय के खिलाफ नहीं है, लेकिन केंद्र सरकार को सवर्ण समाज की भावना का भी सम्मान करना चाहिए। गया, बोधगया, रिवर साइड रोड को सवर्ण संगठनों ने जाम कर दिया है। समर्थक आगजनी कर प्रदर्शन कर रहे हैं।
मध्य प्रदेश के ग्वालियर में ड्रोन कैमरे के जरिए प्रदर्शनकारियों पर नज़र रखी जा रही है। ग्वालियर में तैनात एसडीएम का कहना है कि सुरक्षा के पुख्ता इंतज़ाम किए गए हैं।
प्रदर्शनकारियों का कहना है कि केंद्र की नीतियों से सवर्ण समाज को नुकसान पहुंच रहा है।
बिहार के मोकामा में प्रदर्शनकारियों ने टायर जलाकर अपने विरोध को दर्ज कराया। इसके साथ ही रास्तों पर भी जाम कर दिया। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि केंद्र सरकार सवर्ण समाज के लोगों के साथ सौतेला व्यवहार क्यों कर रही है। राजस्थान में प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर चुके हैं। अजमेर में सवर्ण समाज के लोगों ने दुकानों को बंद करा कर अपना विरोध दर्ज करा रहे हैं।
बिहार के दरभंगा में भी भारत बंद का असर देखने को मिल रहा है। इसके साथ ही मुंगेर में प्रदर्शनकारी रेल की पटरियों पर जहां वो सरकार के इस फैसले की खिलाफत कर रहे हैं। प्रधानमंत्री मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी एससी-एसटी एक्ट के विरोध में बंद का असर दिख रहा है। वाराणसी के बीएचयू में प्रदर्शनकारी छात्रों ने हैदराबाद गेट पर प्रधानमंत्री मोदी का पुतला फूंका। छात्रों की मांग है कि एसटीएसटी एक्ट में हुए संशोधन को वापस लिया जाए।
फेसबुक से टिप्पणी करें