टीम इंडिया ने बांग्लादेश को एशिया कप के सुपर-4 मुकाबले में 7 विकेट से मात दे दी है।
ग्रुप मुकाबलों में हांगकांग और पाकिस्तान को शिकस्त देने के बाद भारत ने बांग्लादेश को हराकर मौजूदा टूर्नामेंट में जीत की हैट्रिक लगाई है। दुबई में खेले गए इस मुकाबले में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए बांग्लादेश की टीम 49.1 ओवर में 173 रनों पर ऑलआउट हो गई और भारत को जीत के लिए 174 रनों का लक्ष्य मिला।
जवाब में टीम इंडिया ने इस आसान से लक्ष्य को 36.2 ओवर में ही हासिल करते हुए बांग्लादेश को धूल चटा दी। भारत के लिए कप्तान रोहित शर्मा ने 104 गेंदों में पांच चौके और तीन छक्कों की मदद से नाबाद 83 रनों की पारी खेली। शिखर धवन ने 47 गेंदों में चार चौके और एक छक्के की मदद से 40 रन बनाए।
आसान से लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारत ने शिखर धवन (40), अंबति रायडू (13) और महेंद्र सिंह धोनी (33) के रूप में तीन विकेट खोए।
धवन के रूप में अपना पहला विकेट गंवाया। वह 15वें ओवर की दूसरी गेंद पर शाकिब के ओवर में एलबीडब्ल्यू करार दे दिए गए। आउट होने से पहले उन्होंने रोहित के साथ पहले विकेट के लिए 61 रनों की साझेदारी की थी। इसके बाद रायडू 106 के कुल स्कोर पर रुबेल हुसैन का शिकार बने। महेंद्र सिंह धोनी ने 37 गेंदों का सामना किया और तीन चौके लगाए। वह 170 के कुल स्कोर पर आउट हुए। रोहित के साथ दिनेश कार्तिक एक रन बनाकर नाबाद रहे।
लंबे अंतराल बाद वनडे में वापसी कर रहे रवींद्र जडेजा के चार विकेट के बाद कप्तान रोहित शर्मा की नाबाद 83 रनों की बेहतरीन पारी की बदौलत भारत ने बांग्लादेश को हरा दिया। रवींद्र जडेजा को ‘मैन ऑफ द मैच’ का अवॉर्ड दिया गया।
जडेजा-भुवी और बुमराह के आगे ढेर हुआ बांग्लादेश
भारतीय टीम के गेंदबाजों ने एक बार फिर बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए बांग्लादेश को बड़ा स्कोर बनाने से महरूम कर दिया। बांग्लादेश की बल्लेबाजी रवींद्र जडेजा (4 विकेट), भुवनेश्वर कुमार (3 विकेट) और जसप्रीत बुमराह (3 विकेट) के सामने 49.1 ओवरों में 173 रनों पर ही ढेर हो गई। एक समय बांग्लादेश का 150 रन पार करना भी मुश्किल लग रहा था, लेकिन मेहदी हसन मिराज (42) और कप्तान मशरफे मुर्तजा (26) के बीच आठवें विकेट के लिए हुई 66 रनों की साझेदारी ने बांग्लादेश को इस स्कोर तक पहुंचने में मदद की।
शुरुआत से ही भुवनेश्वर और बुमराह ने कसी हुई गेंदबाजी की। भारत का खाता भुवनेश्वर ने खोला। उन्होंने लिट्टन दास (7) को 15 के कुल स्कोर पर पवेलियन भेजा। एक रन बाद बुमराह ने नजमुल हुसैन (7) को भी पवेलियन भेज दिया। इसके बाद जडेजा ने मोर्चा संभाला और शाकिब अल हसन (17), मुश्फिकुर रहीम (21) और मोहम्मद मिथुन (9) को आउट कर बांग्लादेश की कमर तोड़ दी। महमूदुल्लाह (25) को भुवनेश्वर ने पवेलियन भेजा और फिर जडेजा ने मुसादेक हुसैन (12) को अपना शिकार बना बांग्लादेश को सातवां झटका दिया। यहां से हसन और मर्तुजा ने टीम को कुछ हद तक संभाला। मुर्तजा की पारी का अंत भुवनेश्वर ने 167 के कुल स्कोर पर किया जबकि हसन को बुमराह ने अपना शिकार बनाया। बुमराह ने ही मुस्ताफिजुर रहमान (3) को आउट कर बांग्लादेश की पारी का अंत किया।
जडेजा ने लिए 4 विकेट
पिछले साल जुलाई के बाद अपना पहला वनडे खेल रहे रवींद्र जडेजा ने बांग्लादेश के खिलाफ चार विकेट लेकर जबर्दस्त वापसी की। बाएं हाथ के स्पिनर जडेजा को हार्दिक पंड्या के चोटिल होने पर टीम में लिया गया और उन्होंने मौके का पूरा फायदा उठाकर दस ओवर में 29 रन देकर चार विकेट लिये
भारत ने जीता टॉस
भारत के कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। पाकिस्तान के खिलाफ हार्दिक पंड्या को चोट लग गई थी जिसकी वजह से इस मैच में रवींद्र जडेजा का मौका दिया गया है। बांग्लादेश ने अपनी टीम में दो बदलाव किए हैं। मोमिनुल हक और अबु हैदर की जगह मुश्फिकुर रहीम और मुस्ताफिजुर रहमान को टीम में जगह दी गई है।
टीमें:
भारत: रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, अंबति रायडू, केदार जाधव, महेंद्र सिंह धोनी, दिनेश कार्तिक, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, रवींद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, जसप्रीत बुमराह।
बांग्लादेश: मशरफे मुर्तजा (कप्तान), लिटन दास, नजमुल हुसैन, शाकिब अल हसन, मुश्फिकुर रहीम, महमूदुल्लाह, मोहम्मद मिथुन, मोसादिक हुसैन, मेहदी हसन, रूबैल हुसैन, मुस्ताफिजुर रहमान।