आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए उन्हें ‘झूठा चौकीदार’ कहा, जिन्होंने केवल अपराधियों को सुरक्षा दी। नायडू की इस टिप्पणी पर बीजेपी की तरफ से सख्त प्रतिक्रिया आई है। बीजेपी ने आरोप लगाया है कि तेलगु देशम पार्टी (टीडीपी) लोकसभा और विधानसभा चुनाव में हार के डर से ‘गंदी राजनीति’ पर उतर आई है।

बुधवार शाम को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में टीडीपी अध्यक्ष ने कहा, “आपके पास खुद को चौकीदार कहने का क्या अधिकारी है? 2017 में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा सीबीआई को लिखे पत्र का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि केंद्रीय एजेंसी ने ईडी के पत्र पर कार्रवाई नहीं की। इस पत्र में ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत जगन मोहन रेड्डी के खिलाफ नया मेमो दर्ज करने की बात कही थी।

उन्होंने कहा कि ऐसा केवल इसलिए हुआ क्योंकि प्रधानमंत्री ने जगनमोहन रेड्डी को बचाना चाहा. तेलंगाना सरकार ने भी संदिग्ध तरीके से किए गए भूमि आवंटन को रद्द करने के लिए कदम नहीं उठाए। टीडीपी प्रमुख ने आरोप लगाते हुए कहा, “यह सब मोदी, के चंद्रशखेर राव और जगन मोहन रेड्डी के बीच सांठगांठ को दिखाता है। उन्होंने (रेड्डी) केस से बचने के लिए पूरी तरह मोदी और केसीआर के आगे आत्मसमर्पण कर दिया है।”