पांच राज्यों में जीत की ख़ुशी ने काँग्रेस में भरा जोश, पौने तीन लाख ने जॉइन की यूथ काँग्रेस

0
57
पांच राज्यों में होने वाले में जीत की आहट ने कांग्रेस पार्टी को संजीवनी देने का काम किया है। जिसका असर कानपुर में देखने को मिल रहा है।
कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और नेताओं में नई स्फूर्ति देखने को मिल रही है। इसके साथ ही यूथ कांग्रेस ने मात्र डेढ़ महीने के भीतर मध्य यूपी में पौने तीन लाख कार्यकर्ता बनाकर इतिहास रचने का भी काम किया है। बड़ी संख्या में युवाओं ने कांग्रेस पार्टी में अपनी रूचि दिखाई है। कानपुर में सबसे अधिक युवाओं ने यूथ कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की है।
उत्तर प्रदेश के भीतर यह सभी विपक्षी पार्टियों के लिए खतरे की घंटी है। महागठबंधन में बसपा को सबसे ज्यादा कांग्रेस पार्टी चुभ रही है जिसकी वजह से गठबंधन का खाका तैयार नहीं हो पा रहा है।
शहर में कांग्रेस पार्टी अक्सर कई धड़ों में बटी हुई नजर आती है, कांग्रेस पार्टी की गुटबाजी किसी से छिपी नहीं। बीते अप्रैल माह में कार्यकर्ता सम्मलेन में आये प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर और गुलाम नबी आजाद के सामने ही दो गुटों के कांग्रेस कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए थे। लेकिन बीते मंगलवार का दिन कांग्रेस पार्टी का दिन बहुत अच्छा रहा। जहां कांग्रेस के तीनों गुटों ने एक साथ अलग-अलग मुद्दों पर केंद्र सरकार को घेरने का काम किया।
कांग्रेस किसी भी मुद्दे को हाथ से जाने नहीं देना चाहती है। पूर्व सांसद राजाराम पाल अपने समर्थकों के साथ बैलगाड़ी और तांगे पर सवार होकर निकले। पेट्रोल-डीजल और घरेलू गैस की बढ़ी कीमतों के विरोध में वह बैल गाड़ी पर सवार हो कर मंडलायुक्त के कार्यालय तक पहुंचे और उन्हें ज्ञापन सौंपा। पूर्व सांसद राजाराम पाल के मुताबिक राफेल मामले में चौकीदार ही भागीदार बन गए। उन्होंने कहा कि पेट्रोल-डीजल और घरेलू गैस की बढ़ती हुयी कीमतों ने आम जनमानस का जीना मुहाल कर दिया है। उन्होंने कहा कि हमारी मांग है कि पेट्रोल डीजल और गैस को जीएसटी के दायरे में लाया जाये।
वहीं कांग्रेस के जिलाध्यक्ष हरप्रकाश अग्निहोत्री ने गुजरात में हो रहे उत्तर भारतीयों के हमले के विरोध में गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और प्रधानमंत्री का पुतला दहन किया। हरप्रकाश अग्निहोत्री ने कहा कि जिस गुजरात ने महात्मा गांधी जैसे महापुरुष को दिया। जिन्होंने देश को आजादी दिलाने में अहम योगदान दिया जिसका लोहा पूरी दुनिया मानती है। वहीं सरदार पटेल जिन्हें पूरी दुनिया लौह पुरुष के नाम से जानती है, ऐसे महान पुरुषों की धरती पर उत्तर भारतीयों पर जुल्म ढाए जा रहे हैं। यह हमले बीजेपी के द्वारा सुनियोजित तरीके से कराये जा रहे हैं, जिसको कांग्रेस बर्दाश्त नहीं करेगी।
कांग्रेस के पूर्व विधायक ने भी अपने समर्थकों के साथ मिलकर पेट्रोल-डीजल, घरेलू गैस के दामों की बढ़ोतरी को लेकर धरना प्रदर्शन किया। कांग्रेस पूर्व विधायक अजय कपूर ने कहा कि सरकार की गलत नीतियों की वजह से किचन का बजट बिगड़ गया है। अब इस सरकार को जड़ से उखाड़ फेकने का वक्त आ गया है। अगर यह सत्ता में रहे तो देश आगे बढ़ने वाला नहीं है बल्कि पीछे चला जायेगा।
इसके साथ ही कांग्रेस पार्टी के लिए सबसे ख़ुशी बात यह है कि बड़ी संख्या में युवाओं ने कांग्रेस पार्टी पर भरोसा जताया है। मध्य उत्तर प्रदेश में आने वाले 29 जिलों में यूथ कांग्रेस ने मात्र देश माह पौने तीन लाख युवाओं ने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की है। युवाओं की संख्या 13 अगस्त से 30 सितम्बर के बीच बढ़ी है। यह कांग्रेस पार्टी के लिए उत्तर प्रदेश में अब तक का सबसे बड़ी उपलब्धि मानी जा रही है। जिसमें सक्रिय सदस्यों की संख्या लगभग 55 हजार के करीब है। जिसमें सबसे अधिक कानपुर में 50 हजार युवाओं ने यूथ कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की है।
कांग्रेस की बढ़ती लोकप्रिय देखकर कानपुर में सबसे ज्यादा बीजेपी और बसपा के खेमे में हलचल बढ़ी है। दोनों पार्टियां वर्तमान में कानपुर में पूरी तरह से बैकफुट पर नजर आ रही है। जिलाध्यक्ष हरप्रकाश अग्निहोत्री के मुताबिक जिस प्रकार से पांच राज्यों में कांग्रेस पार्टी को जनता का समर्थन मिल रहा है उसी तरह आने वाले लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश में कांग्रेस पार्टी को जनता का समर्थन मिलेगा। जनता सरकार की कथनी करनी में फर्क को समझ चुकी है और बहुत जल्द ही इसका परिणाम भी सामने आने वाला है।