आज एक बार फिर करीब एक लाख किसान दिल्ली की सड़कों पर हैं। सभी रामलीला मैदान से संसद मार्ग पर पहुंच चुके हैं। किसानों को विपक्षी पार्टियों और करीब 200 किसान हितैषी संगठनों का समर्थन हासिल है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी किसानों के प्रदर्शन में शामिल हो सकते हैं। आंदोलनकारी किसान कर्जमाफी, फसल की लागत का डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) और कृषि के लिए संसद का विशेष सत्र बुलाए जाने की मांग कर रहे हैं। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मार्च के मार्ग पर साढ़े तीन हजार से अधिक पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है।
आक्रोशित किसान
अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति मार्च संसद मार्ग (पुलिस स्टेशन के पास) पहुंच गया है। किसान कर्जमाफी की मांग कर रहे हैं। आंध्र प्रदेश, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल और उत्तर प्रदेश समेत देशभर से आए किसान कल रामलीला मैदान में इकट्ठे हुए थे। जिसके बाद उन्होंने आज मार्च निकाला।
ज्वाइंट कमीश्नर (ट्रैफिक) ने कहा कि दिल्ली पुलिस फेसबुक और ट्विटर के माध्यम से लोगों को ट्रैफिक के बारे में रियल टाइम जानकारी देती रहेगी। उन्होंने लोगों को सलाह दी कि वह सोशल मीडिया के माध्यम से ट्रैफिक अपडेट लेते रहें। लगभग 1000 जवानों को किसान मार्च की देखरेख में लगाया गया है। ताकि ट्रैफिक का संचालन आराम से हो सके।
फेसबुक से टिप्पणी करें