गांधी का हरदोई कनेक्शन, यहीं गांधी जी ने संबोधित की थी विशाल जनसभा

0
73
आज 2 अक्टूबर है। गांधी जी को श्रद्धांजलि देते हुए आज हम गांधी जी के हरदोई कनेक्शन पर बात करेंगे।
सन् 1928 में साइमन कमीशन के भारत आने के बाद इसका विरोध करने के लिये महात्मा गांधी ने समूचे भारत में यात्रा कर जनजागरण अभियान का शुभारंभ किया। इस दौरान 11 अक्टूबर 1929 को गांधी जी ने हरदोई का भी भ्रमण किया। सभी वर्गों के व्यक्तियों ने महात्मा गांधी का स्वागत किया तथा उन्होंने टाउन हॉल में 4000 से अधिक व्यक्तियों को संबोधित किया। इसी जगह विदेशी कपड़ों की होली जलाई गई व स्वाधीनता संग्राम की लड़ाई को पैना करने के लिए महिलाओं ने अपने आभूषण भी गांधी को दे दिए थे। सभा के समापन के बाद खद्दर के कुछ अच्छे कपड़े 296 रूपये में नीलाम किये गये और यह धनराशि गांधी जी को भेट की गयी।
स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद सम्पूर्ण भारत वर्ष में महात्मा गांधी के भ्रमण स्थलों पर स्मारकों का निर्माण कराया गया, निर्माण के इसी क्रम में हरदोई में भी गांधी भवन का निर्माण हुआ।
स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद महात्मा गांधी जन्म शताब्दी वर्ष 1969 में सम्पूर्ण भारत वर्ष में जन शताब्दी समितियों का गठन किया गया था। उत्तर प्रदेश के भी प्रत्येक जनपद में जन शताब्दी समितियों का गठन किया गया। इस समिति की अध्यक्षता तत्कालीन जिलाधिकारी श्री एच एल विरदी ने की। यह तत्कालीन जिलाधिकारी की दूरदर्शिता थी कि उन्होंने इस जनपदीय शताब्दी समिति में ऐसे महानुभावों को सम्मिलित किया जिन्होंने इस शताब्दी समिति को आने वाले समय में और अधिक गौरवमयी बनाया।
इस समिति ने यह निर्णय लिया कि 1929 में जिस स्थान पर प्रथम बार गांधी जी आये थे उसी स्थान पर गांधी भवन का निर्माण कराया जाये।
गांधी शताब्दी समिति हरदोई ने विक्टोरिया मैमोरियल हॉल से इस रिक्त भूमि को दो हजार रुपये प्रतिवर्ष लीज पर लेकर राइफल क्लब व जन सहयोग से धन एकत्रित कर वर्ष 1970 में इस भवन का शिलान्यास कराया। इस भवन का निर्माण कार्य वर्ष 1972 में पूर्ण हुआ।
भवन की मरम्मत और अन्य देख रेख हेतु शहर मे सम्पन्न होने वाले मांगलिक, सामाजिक, राजकीय कार्यक्रमों एवं राजनैतिक गोष्ठियों के लिये किराये पर उठाकर धन की व्यवस्था की जाती है। भवन की अन्य स्रोतों से कोई आय नही होती है। भवन का रख रखाव महात्मा गांधी जनकल्याण समिति द्वारा किया जाता है।
2013 में इस समिति के सचिव अशोक कुमार शुक्ला ने इस परिसर में एक प्रार्थना कक्ष स्थापित कराकर नववर्षारम्भ के अवसर पर 1 जनवरी से सर्वोदय आश्रम टडियांवा के सहयोग से नियमित सर्वधर्म प्रार्थना का आरंभ कराया है। हर शाम सर्वोदय आश्रम की अध्यक्ष उर्मिला श्रीवास्तव यहां सर्वधर्म प्रार्थना का आयोजन करती हैं। यहां का प्रार्थना कक्ष गांधी की विश्राम स्थली रहे कौसानी में स्थापित अनासक्ति आश्रम में स्थापित प्रार्थना कक्ष जैसा ही है।