हरदोई : योगी व नड्डा ने किया गौराडांडा में मेडिकल कॉलेज समेत ₹322 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास

0
63

पीओके के बालाकोट में जैश के ट्रेनिंग कैम्प पर सर्जिकल स्ट्राइक को सीएम ने बताया पीएम के अटल इरादों की जीत

केन्द्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्री ने कहा, आयुष्मान योजना का मिलेगा वंचित तबके के 44 करोड़ लोगों को लाभ

बृजेश ‘कबीर’
____________________________________________
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज यहां कहा, ₹250 करोड़ की लागत से तैयार होने वाले राजकीय एलोपैथी मेडिकल कॉलेज 02 वर्ष में बन जाएगा और उसके 04 बरस बाद 100 डॉक्टर लोगों की सेवा के लिए मिलने लगेंगे। बताया, 300 बेड क्षमता वाला मेडिकल कॉलेज 20 सुपर स्पेशिलिटी से लैस होगा। योगी ने कहा, मेडिकल कॉलेज बनने से क्षेत्र में बड़े पैमाने पर रोजगार सृजन होगा और लोग खुशहाल होंगे। पाक अधिकृत कश्मीर में बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के ट्रेनिंग कैम्प पर वायुसेना की सर्जिकल स्ट्राइक में 25 टॉप कमाण्डर सहित 300 आतंकियों के मारे जाने पर प्रसन्नता जताई। सर्जिकल स्ट्राइक को प्रधानमंत्री के अटल इरादों की जीत बताया।

सीएम योगी सदर लोकसभा सीट के गोपामऊ विधानसभा क्षेत्र के गौराडांडा में मेडिकल कॉलेज समेत ₹322 करोड़ की योजनाओं के शिलान्यास अवसर पर जनसभा में बोल रहे थे। इससे पहले योगी और केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जगत प्रकाश नड्डा ने बटन दबाकर परियोजनाओं का शिलान्यास किया। योगी ने कहा, केन्द्र और प्रदेश में भाजपा की सरकारें बनने के बाद से स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार व सुदृढ़ीकरण की दिशा में लगातार ज़मीन पर काम हो रहा है। प्रदेश सरकार के 02 साल के कार्यकाल में रिकॉर्ड 16 मेडिकल कॉलेज निर्माण को मंजूरी दी गई। प्रदेश के लिए यह ऐतिहासिक अवसर व क्रान्तिकारी परिवर्तन है। योगी ने कहा, पिछली बसपा व सपा की सरकार में आम आदमी भ्रष्टाचार से परेशान था। लेकिन, उनकी सरकार के गठन के बाद सभी योजनाओं का पात्रों को पारदर्शिता से दिया जा रहा है। उन्होंने उदाहरण रखते हुए कहा, पहले लोग पैसे लिए बिजली विभाग के दफ्तरों के चक्कर लगाते थे पर कनेक्शन नहीं मिलता था। आज शहरी व ग्रामीण इलाकों के गरीबों को सौभाग्य योजना से निःशुल्क कनेक्शन दिया जा रहा है। कहा, उनकी सरकार गांव, गरीब, मजदूर, किसान, व्यापारी, छात्रों, युवाओं समेत सभी तबकों की बेहतरी की दिशा में काम कर रही है। उन्होंने किसानों के ऋण मोचन योजना का उल्लेख भी किया। कहा, यह तस्वीर रामराज्य की ही है, जहां जाति, सम्प्रदाय व भाषा के आधार पर बिना भेदभाव के समान रूप से लाभान्वित किया जा रहा है।

केन्द्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने कहा, मेडिकल कॉलेज निर्माण की मंजूरी जनपद को अनमोल सौगात है। सदर सांसद अंशुल वर्मा व मिश्रिख सांसद अंजू बाला का नाम लेते हुए कहा, ये दोनों जानते हैं कि मेडिकल कॉलेज मंजूर कराने की शुरुआती प्रक्रिया पूरी करने में ही पसीना आ जाता है। लेकिन, इनके प्रस्ताव पर उन्होंने तत्काल मंजूरी दे दी। कहा, दूसरे चरण में मंजूर 08 मेडिकल कॉलेज में सबसे पहले हरदोई में भूमि के अधिग्रहण को मंजूरी मिली। कहा, एक दौर था कि गम्भीर बीमारी होने पर बेहतर इलाज और दवाइयों की सोच कर वंचित तबके की सांस फूल जाती थी। लेकिन, मोदी सरकार ने आयुष्मान योजना से वंचित तबके के लोगों के चेहरे पर मुस्कान खिलाने का काम किया गया। इस योजना से देश के 40 करोड़ लोगों को कार्ड जारी किया गया है, जो अमेरिका, कनाडा और मैक्सिको जैसे 03 देशों की कुल आबादी के बराबर हैं। उन्होंने आयुष्मान योजना को दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सुरक्षा योजना करार दिया। कहा, योजना लागू होने के बाद 10,000 से ज़्यादा लाभार्थी योजना का उपयोग कर चुके हैं। बालाकोट सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा, पुलवामा अटैक के बाद प्रधानमंत्री ने कहा था, सेना को खुली छूट दे दी गई है। आतंकी कैम्पों पर कार्यवाही के लिए समय और स्थान सेना को तय करना था और आज का ऑपरेशन उसी का सफल परिणाम है। आज सुबह का सूरज सभी भारतीयों के लिए सुखद सन्देश लेकर आया। जैश के 300 आतंकी मार गिराने के लिए वायुसेना साधुवाद की पात्र है और पुलवामा के शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि है।

शिलान्यास कार्यक्रम के दौरान योगी व नड्डा ने आयुष्मान लाभार्थियों को कार्ड प्रदान किए। मंच के पीछे लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन किया। जनसभा को प्रदेश के प्राविधिक चिकित्सा एवं प्राविधिक शिक्षा मंत्री आशुतोष टण्डन ‘गोपाल जी’, सदर सांसद अंशुल वर्मा व मिश्रिख सांसद अंजू बाला ने भी सम्बोधित किया। अध्यक्षता व धन्यवाद ज्ञापन भाजपा जिलाध्यक्ष सौरभ मिश्र नीरज ने किया। इस दौरान मंच पर सांसद अशोक बाजपेयी, पूर्व सांसद नरेश अग्रवाल, सदर विधायक/पूर्व राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) नितिन अग्रवाल, बालामऊ विधायक रामपाल वर्मा, सण्डीला विधायक राजकुमार अग्रवाल ‘राजिया’, शाहाबाद विधायक रजनी तिवारी, गोपामऊ विधायक श्याम प्रकाश, सवायजपुर विधायक माधवेन्द्र प्रताप सिंह ‘रानू’, साण्डी विधायक प्रभाष कुमार व बिलग्राम-मल्लावां विधायक आशीष सिंह ‘आशू’ के अलावा जिला उपाध्यक्ष अजीत सिंह ‘बब्बन’, जिला महामन्त्री कर्मवीर सिंह चौहान, राजेश अग्निहोत्री व जगन्नाथ प्रसाद राजवंशी मौजूद रहे। योगी व नड्डा को भाजपा पदाधिकारियों, नेताओं और कार्यकर्ताओं ने हैलीपैड पर फूल भेंट कर स्वागत किया।
***

योगी ने अंशुल के कार्यकाल की उपलब्धियों पर तैयार पुस्तक का किया विमोचन

सदर सांसद अंशुल वर्मा ने ‘देश बदल रहा है-हरदोई बदल रहा है’ शीर्षक से एक पुस्तक प्रकाशित कराई है। पुस्तक में उनके 05 बरस के कार्यकाल की उपलब्धियों का विस्तृत लेखा-जोखा है। पुस्तक में केन्द्रीय विद्यालय निर्माण, एनएच-25 की मंजूरी मेडिकल कॉलेज को मंजूरी, हरदोई रेलवे स्टेशन का ए ग्रेड में चयन, अमृत योजना की मंजूरी, पिहानी रोड रेलवे क्रॉसिंग पर पुल, मंगली पुरवा रेलवे क्रॉसिंग पर पुल निर्माण की मंजूरी और साण्डी रेल लाइन केये आगणन तैयार होने सहित पूरी हो चुकीं, पूरी हो रहीं और प्रस्तावित विकास कार्यों का स्वीकृत पत्रों व अख़बार की कतरनों की परछाई में ब्यौरा है। इस मौके पर दशहरा मेला की स्मृतिका का डीएम पुलकित खरे ने सीएम से विमोचन कराया। उन्होंने सीएम को स्मृति चिन्ह भी दिए। इस मौके पर एसपी आलोक प्रियदर्शी व सीडीओ आनन्द कुमार मौजूद रहे।
***

#अनुप्रिया के मन की खटास फिर हुई उजागर

कार्यक्रम में केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अनुप्रिया पटेल का आना भी प्रस्तावित था, पर वह नहीं आईं। इससे जाहिर होता है कि अपना दल (एस) और भाजपा के बीच की खाई लगातार चौड़ी हो रही है। बता दें, इससे पहले एक मेडिकल कॉलेज के शिलान्यास कार्यक्रम में विभागीय राज्यमंत्री होने के बाद भी आमन्त्रित नहीं किए जाने पर अनुप्रिया ने तल्ख़ प्रतिक्रिया दी थी। एक मसला आसन्न लोकसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे को लेकर भी पेंच फंसा है। दरअसल, अनुप्रिया अपना दल (एस) के लिए अबकी अधिक सीटें चाहतीं हैं, लेकिन भाजपा की तरफ से कोई सकारात्मक संकेत नहीं मिलने से वह उस पर गठबन्धन धर्म नहीं निभाने का आरोप लगा चुकी हैं। अनुप्रिया और अपना दल (एस) के राष्ट्रीय अध्यक्ष आशीष पटेल की पिछले दिनों कॉन्ग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाक़ात भी तो चर्चा में है। हरदोई में मेडिकल कॉलेज के शिलान्यास में आमन्त्रित किए जाने के बाद भी अनुप्रिया का नहीं आना, अपना दल (एस) और भाजपा के बीच ‘तलाक़’ का एक संकेत तो है ही।