गायत्री परिवार द्वारा आयोजित 51 कुंडीय महायज्ञ जारी

0
19
माधौगंज से प्रदुम्न तिवारी
गायत्री परिवार द्वारा आयोजित 51 कुण्डीय महायज्ञ में भक्तों द्वारा वेदमंत्रोचार के साथ आहुतियाँ दी जा रही हैं। विद्वानों द्वारा संगीतमय प्रवचन देने से पूरा नगर भक्तिमय हो गया है। यज्ञ में बच्चों के नामकरण व यज्ञोपवीत संस्कार किए गए।
कस्बे के बड़े मन्दिर के निकट 51 कुण्डीय यज्ञ में सुबह से ही भक्तों का तांता लगा रहता है। यज्ञ में लोग परिवार के साथ आहुतियाँ देकर पुण्य के भागीदार बन रहे हैं। शाम के समय टोली नायक पांडे ने बताया कि यज्ञ हवन करने से असुरीय शक्ति का नाश होता है वायु मंडल की हवा शुद्ध होती है और भगवान की भक्ति मिलती है। कस्बे में तीन दिन से गायत्री महायज्ञ व् संगीतमय प्रवचन शांति कुंज हरिद्वार से आए हुए आचार्य संदीप पांडे की टोली द्वारा किये जा रहे हैं । रविवार की शाम को आचार्य ने बताया कि वैदिक रीतियों के द्वारा ऋषि मुनियों ने सन्यास, ब्रम्हचर्य, वानप्रस्थ, ग्रहस्थ आश्रमो का संचालन होना ग्रहस्थ आश्रम से बताया। गायक शम्भू पांडे ने अपने गाए भजन ज्ञान गंगा नहालें मन मेरे, एक डुबकी लगा ले मन मेरे ,सत्संग है ज्ञान सरोवर सुख की खान है बन्दे ,सत्संग से सचमुच मिलते हैं भगवान रे बन्दे” गीत गाकर उपस्थित लोगों का मन मोह लिया। सोमवार की प्रातः काल की बेला में महायज्ञ का शुभारंभ टोली नायक संदीप पांडे ने यज्ञ का महत्व बताते हुए कहा कि यज्ञ एक ऐसी विद्या है जिसके माध्यम से सभी समस्याओं का निदान कर सब कुछ प्राप्त किया जा सकता है। तैंतीस करोड़ देवी देवताओं का आचार्यों ने आवाहन कर हवन वेदी में उपस्थित साधको से मंत्रोचार उच्चारण कर आहुतियां डाली। कार्यक्रम में दीक्षा, मुंडन संस्कार, जनेऊ संस्कार भी किए गए। इस मौके पर मोहन गुप्ता, श्रीकृष्ण गुप्ता, ज्ञानस्वरूप गुप्ता, ओमकार गुप्ता, दिनेश गुप्ता, मिंटू गुप्ता, निखिल गुप्ता व युवामण्डल के कार्यकर्ता मौजूद रहे ।