फिर उठा महिला आरक्षण का मुद्दा : राजनीति या संजीदा भी हैं दल?

0
25

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह को पत्र लिखकर कहा है कि वह महिला आरक्षण विधेयक पारित कराने के समर्थन में राज्य विधानसभा से एक प्रस्ताव पारित कराएं जिसमें केंद्र से इस विधेयक को पारित करने का आह्वान किया गया हो। गांधी ने उन राज्यों के मुख्यमंत्रियों को यह पत्र लिखा है जहां कांग्रेस सत्ता में है। उन्होंने अपनी पार्टी के शासित राज्यों से केंद्र से यह विधेयक पारित कराने की अपील करते हुए प्रस्ताव पारित करने को कहा है।

पंजाब के मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में गांधी ने कहा है कि राज्यसभा ने 2010 में 108वां संविधान संशोधन विधेयक पारित किया लेकिन 15वीं लोकसभा 2014 में भंग होने के बाद वह विधेयक निष्प्रभावी हो गया।

उन्होंने लिखा है, ‘कांग्रेस और कई दलों ने प्रधानमंत्री से महिला आरक्षण विधेयक को पारित कराने को सुनिश्चित करने की मांग की है और अपने समर्थन का वादा किया है। इस विधेयक के विरोधियों ने बदलाव लाने में महिलाओं की योग्यता पर आशंका प्रकट की है लेकिन 73वें और 74वें संवैधानिक संशोधनों के बाद महिलाओं द्वारा निभायी गई नेतृत्व की भूमिका ने विरोधियों को ग़लत साबित कर दिया।

गांधी ने कहा, ‘इस विधेयक को पारित कराने के प्रति अपना समर्थन सामने रखने के लिए अगले सत्र में विधानसभा के लिए इस आशय का प्रस्ताव पारित करना जरूरी है कि लोकसभा और विधानसभा में एक तिहाई सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित की जाएं।