150 से लेकर 300 रुपये तक लोअर क्लास की किताबें

Himanshu Singh
__________________________________________

मल्लावां में डीएम के आदेशों को ठेंगा दिखाते हुए प्राइवेट स्कूल संचालकों की मनमानी जारी है। महंगी फीस के साथ साथ किताबों की खरीद पर भी कमीशन सेट है। जिससे गरीब आदमी की कमर टूट रही है।

नाम न छापने की शर्त पर एक ग्रामीण ने बताया कि उसके 2 बच्चे नगर के एक प्राइवेट स्कूल में कक्षा यूकेजी व 2 में पढ़ते हैं। दोनों बच्चों की किताबों का मूल्य पूछे जाने पर किसान ने कहा कि भैया पूछो मत! बहुत महंगी हैं। लगभग 2600 की हैं। बहुत मनमानी करते हैं स्कूल वाले। कहा, किताबों को न खरीदने पर बच्चों को प्रताड़ित करते हैं और पिटाई की धमकी देते हैं।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here