ना भूलेंगे और ना माफ करेंगे, बदला लिया जाएगा : सीआरपीएफ

0
34

जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में गुरुवार शाम हुए हमले में जैश के आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों को ले जा रही बस को टक्कर मार दी, जिसमें अब तक 44 जवान शहीद हो चुके हैं। इस हमले को लेकर पूरा देश एकजुट हो गया है और आतंकवाद के खिलाफ खड़ा हो गया है। सरकार और विपक्ष ने जहां एकजुट होकर इस हमले का जवाब देने का मन बना लिया है, वहीं विदेशी सरकारें भी भारत के साथ खड़ी है। एनएसए अजीत डोभाल ने भी हमले पर सभी सुरक्षाबलों और एजेंसियों के साथ चर्चा की है।

हमले को लेकर जहां राजनीतिक पार्टियों, बॉलीवुड, खेल जगह व विदेशी सरकारों की ओर से बयान दिए जा रहे हैं, वहीं सीआरपीएफ ने ऐलान कर दिया है कि हमले को ना तो भूला जाएगा और ना ही दोषियों को माफ किया जाएगा। इस कायराना कृत्य का पूरा बदला लिया जाएगा। यह हमला 2016 में हुए उरी हमले के बाद सबसे भीषण आतंकवादी हमला है।सु

बह पीएम नरेन्द्र मोदी ने पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवानों के लिए दो मिनट का मौन रखकर उनकी आत्मा की शांति की कामना की तथा परिजनों को दुख सहने की शक्ति देने की दुआ की। इधर, हमले में शहीद हुए यूपी के 12 जवानों के लिए सीएम योगी आदित्यनाथ ने परिवारों को 25 लाख रुपए देने की घोषणा की है। हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर शहीद के परिवार को 20 लाख रुपए देने की घोषणा की है।

बसपा सुप्रीमो मायवती ने कहा कि हमारी पार्टी इस आतंकवादी हमले की कड़ी निंदा करती है और अपनी जान गंवाने वाले सैनिकों के परिवारों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करती है। हम केंद्र सरकार से इस समस्या का स्थायी समाधान खोजने की अपील करते हैं। इसी प्रकार तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने जन्मदिन का जश्न नहीं मनाने का निर्णय किया है।

पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने कहा, ‘आज शोक का दिन है। हमारे देश ने करीब 40 सशस्त्र बलों के जवानों को खो दिया है और हमारा सबसे बड़ा कर्तव्य है कि हम उनके परिवारों को बताएं कि हम उनके साथ हैं। हम कभी भी आतंकवादी ताकतों से समझौता नहीं करेंगे।