नफ़रतों के बीच मोहब्बत के चराग़ जलाए शायर सलमान ज़फ़र और भाजपा नेता प्रीतेश दीक्षित ने

0
4

दोनों की पोस्ट्स हो रही हैं वायरल

धारा 370 ख़त्म होते ही सोशल मीडिया पर पोस्ट्स की भरमार सी आ गई। फेसबुक, व्हाट्सएप्प, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर विभिन्न पोस्ट्स आनी शुरू हो गईं। बधाइयाँ देने का दौर शुरू हो गया। सकारात्मक पोस्ट्स के साथ नकारात्मक पोस्ट्स भी आनी शुरू हो गईं। अराजक तत्व तो ऐसे मौक़ों की तलाश में रहते ही हैं। कोई कश्मीर की लड़कियों को लेकर अश्लील बातें कर रहा था तो कई शादी के ख़्वाब पालते हुए भी देखे गए। कइयों ने तो वहां ज़मीन खरीदने का प्लान भी कर डाला। एकबारगी ऐसा लगा कि किसी मुल्क़ पर फतह पा ली गई है और हम अफ़ग़ानों, मंगोलों की तरह अपनी हवस पोस्ट्स के माध्यम से मिटा रहे हैं।

कहते हैं ना की नफ़रतों के बीच मोहब्बतों का भी समावेश रहता ही है। इसकी कोशिश करते हुए हरदोई की शान, अंतरराष्ट्रीय युवा शायर सलमान ज़फर ने अपने फेसबुक पेज और ट्विटर अकाउंट पर एक फ़ोटो पोस्ट करते हुए लिखा “ये सब मेरी हिंदू बहने हैं। मैं इन सबसे “राखी” बँधवा सकता हूँ। इनकी हिफ़ाज़त करना मेरा फ़र्ज़ है। मेरे माँ-बाप ने मुझे बताया है कि इस्लाम का यही दर्स और इंसानियत का यही तक़ाज़ा है।” इसी तरह की एक पोस्ट भाजपा नेता प्रीतेश दीक्षित की भी दिखी। उन्होंने कश्मीर की लड़कियों से उन्हें भाई बनाकर राखी भेजने की गुज़ारिश की है। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट पर बाक़ायदा अपना पता भी शेयर किया है। सोशल मीडिया पर दोनों की पोस्ट्स वायरल हो रही हैं।