पहला क्रिकेट विश्व कप 1975 : गावस्कर ने बनाया था अनोखा रेकॉर्ड!

0
66

इसे प्रूडेंशियल वर्ल्ड कप कहा गया था। वर्ल्ड का पहला आयोजन इंग्लैंड में किया गया और इसे क्लाइव लॉयड की कप्तानी में वेस्टइंडीज़ ने जीता। वर्ल्ड कप 1975 में पहला  शतक भारत और इंग्लैंड के मैच में बना। यह शतक इंग्लैंड के बल्लेबाज़ डेनिस एमिस ने लगाया था। यह वही मैच था जिसमें भारतीय बल्लेबाज़ सुनील गावस्कर ने पूरे 60 ओवरों तक बल्लेबाज़ी की और बिना आउट हुए केवल 36 रन बनाए!

भारतीय टीम का प्रदर्शन कुछ ख़ास नहीं रहा और वह पहले दौर में ही बाहर हो गई। भारत इस टूर्नामेंट में इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और ईस्ट अफ्रीका के साथ ‘ग्रुप ए’ में था। भारत को पहले ही मैच में इंग्लैंड ने 202 रनों के बड़े अंतर से हार का सामना करना पड़ा। अगले मैच में ईस्ट अफ्रीका को भारत ने 10 विकेट से हराकर कुछ हद तक भरपाई की, लेकिन वह अपना अगला मैच न्यूजीलैंड से चार विकेट से हार गई और टूर्नामेंट से बाहर हो गई।

1975 वर्ल्डकप की ख़ास बातें

तब क्रिकेट में गोरों का नहीं बल्कि कैरेबियाई खिलाड़ियों का दबदबा था। क्रिकेटर्स तब सफेद कपड़ों में और लाल गेंदों से खेला करते थे। साल 1975 में 7 जून के रोज़ क्रिकेट के महाकुंभ पहले विश्व कप की शुरुआत हुई थी।

पहला विश्व कप 7 से 21 जून के बीच खेला गया था।

इस दौरान हर मैच 60 ओवरों का होता था।

इस वर्ल्ड कप में पहला मैच भारत और इंग्लैंड के बीच खेला गया था और इंग्लैंड ने जीत दर्ज की। सुनील गावस्कर ने 174 गेंदों में नॉट आउट रहते हुए महज 36 रन बनाए।

इस वर्ल्ड कप में ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, भारत, न्यूजीलैंड, पाकिस्तान, वेस्टइंडीज, श्रीलंका और पूर्वी अफ्रीका टीमें शामिल थीं।

1975 क्रिकेट विश्व कप का फाइनल मैच ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज के बीच लॉर्ड्स इंग्लैंड में 21 जून 1975 को खेला गया था जिसमें वेस्टइंडीज ने ऑस्ट्रेलिया को 17 रनों से हराया था। उस समय ऑस्ट्रेलिया के कप्तान इयान चैपल थे और वेस्टइंडीज के कप्तान क्लाइव लॉयड थे।