रामू बाजपेयी ‘पाली’
पाली नगर में आयोजित होने वाले श्री राम लीला महोत्सव की तैयारियां लगभग पूर्ण हो गयी हैं।
पाली नगर के मेले का इतिहास काफी पुराना है व क्षेत्र में मेले की धूम रहती है। मेले में काफी दूर दूर से झूले व सर्कस आते हैं जिनका लोग भरपूर आनंद लेते हैं।
मंगलवार को मेले में धनुषयज्ञ लीला का मंचन किया गया। जिसमे दिखाया गया कि जब सीता जी ने रँगभूमि में अपने कदम रखे तो वहां पर उपस्थित सभी नर नारी उनके सुंदर रूप को देखकर मोहित हो गए। भगवान श्री राम ने धनुष का विध्वंस किया।
तरह तरह के कार्यक्रमो का होगा आयोजन
मेले के कोषाध्यक्ष रामू अग्निहोत्री ने बताया कि मेले में आने वाले दुकानदारों की व्यवस्था कमेटी की तरफ से की जाएगी। अग्निहोत्री ने ये भी बताया कि मेले में श्री कृष्ण रासलीला व श्रीमदभागवत कथा भी आयोजित की गई है जो 22 अक्टूबर से लेकर 2 नवंबर तक चलेगी। इसके साथ ही मेले में लोगो के मनोरंजन के लिए नाच तमाशे का भी इंतजाम किया गया है। 02 नवंबर को रावण वध होगा।
धूमधाम से निकलेगी श्री राम बारात
मेले में श्री राम बारात भी बड़ी धूम धाम से निकाली जाएगी। रामू अग्निहोत्री ने बताया 17 अक्टूबर दिन बुधवार को श्री राम चन्द्र जी की बारात गाजे बाजे व झांकियो के साथ बड़ी धूम धाम से नगर के विभिन्न मार्गो से होती हुई श्री राम लीला मैदान में ले जाई जाएगी।
सुरक्षा के है कड़े इंतजाम
मेले में सुरक्षा व्यवस्था पर विशेष ध्यान दिया गया है। मेले में आने जाने वाले दुकानदारों व महिलाओं की सुरक्षा पूरी तरह से की जायगी। पाली थानाध्यक्ष गोपाल नारायण ने बताया कि मेले में किसी भी प्रकार की अराजकता बर्दाश्त नही की जाएगी तथा अतिरिक्त फ़ोर्स के साथ मेले पर पूरी नजर रखी जायेगी।
फेसबुक से टिप्पणी करें