राजस्थान में काँग्रेस का बड़ा दाँव!

0
36
राजस्थान विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस ने आज 32 उम्मीदवारों की दूसरी लिस्ट जारी की। पार्टी ने अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे जसवंत सिंह के बेटे मानवेंद्र सिंह को झालरापाटन से उम्मीदवार बनाया है। इस सीट से मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे उम्मीदवार हैं। उन्होंने मानवेंद्र के नाम के एलान से ठीक पहले आज ही नामांकन दाखिल किया है। नामांकन दाखिल करने के बाद मुख्यमंत्री राजे ने कहा कि लोगों का प्यार दर्शाता है कि हम उनकी आकांक्षाओं और विकास की कसौटी पर खरे उतरे हैं।
17 अक्टूबर को मानवेंद्र ने बीजेपी को बड़ा झटका देते हुए कांग्रेस का दामन थाम लिया था। उनके पिता जसवंत सिंह बीजेपी के संस्थापक सदस्यों में रहे हैं। बाड़मेर के शिव क्षेत्र से विधायक मानवेंद्र ने सितंबर में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) छोड़ने की घोषणा की थी। वह पार्टी में अपने पिता जसवंत सिंह को दरकिनार किए जाने से दुखी थे।
2014 लोकसभा चुनाव में उनके पिता को टिकट नहीं दिया गया था, जिसके कुछ वर्ष बाद राजपूत नेता जसवंत सिंह कोमा में चले गए। सिंह के पार्टी में शामिल होने से कांग्रेस को राजस्थान विधानसभा चुनाव में राजपूत वोटों को अपने पाले में करने की उम्मीद है।
कांग्रेस में शामिल होने के साथ मानवेंद्र ने कहा था कि वह राजस्थान में वसुंधरा राजे नीत बीजेपी सरकार द्वारा लगातार निशाना बनाए जाने के बाद कांग्रेस में शामिल हुए हैं। उन्होंने कहा था कि समस्या 2014 में शुरू हुई, जब बीजेपी ने उनके पिता को लोकसभा चुनाव में टिकट देने से इंकार कर दिया। मानवेंद्र सिंह ने सितंबर में राजस्थान में एक जनसभा में बीजेपी छोड़ने की घोषणा की थी। उन्होंने जनसभा में कहा था, ‘कमल का फूल, बड़ी भूल’।
राजस्थान में नए विधानसभा के लिए मतदान सात दिसंबर को होंगे और मतों की गिनती 11 दिसंबर को होगी। राज्य में 200 सीटें हैं। कांग्रेस ने पिछले दिनों 152 उम्मीदवारों की सूची जारी की थी।