वरदान चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह एवं निकाह समारोह आज घंटाघर प्रांगण में संपन्न होगा

0
30

वरदान चैरिटेबल ट्रस्ट द्वारा आयोजित सामूहिक विवाह एवं निकाह समारोह आज घंटाघर प्रांगण में संपन्न होगा। इस समारोह में 51 जोड़े विवाह बंधन में बंधकर गुड फ्राइडे मनाएंगे। इसमें 48 दंपत्तियों का विवाह हिंदू विधि के अनुसार गायत्री विधि से संपन्न कराया जाएगा वहीं तीन मुस्लिम दंपत्तियों का निकाह शहर काज़ी द्वारा पढ़ाया जाएगा। कल दिनभर सामूहिक विवाह समारोह की तैयारियों को अंतिम रूप देने में ट्रस्ट के ट्रस्टीगण तथा सहयोगी लगे रहे। ट्रस्ट की ओर से उपहार में दिए जाने वाले ज़ेवरात, कपड़ा तथा बर्तनों आदि की व्यवस्था पूर्ण कर ली गई है। घंटा घर में विशाल पंडाल का निर्माण भी हो चुका है।

वरिष्ठ ट्रस्टी अरुणेश बाजपेई ने उपरोक्त जानकारी देते हुए बताया कि वरदान ट्रस्ट के मुख्य ट्रस्टी अमिय कृष्ण चतुर्वेदी नोएडा से हरदोई आ चुके हैं तथा उन्होंने ट्रस्टी गणों की बैठक में समारोह की तैयारियों की समीक्षा की और मुख्य रूप से वर वधु के आयु संबंधित अभिलेख देखे। उन्होंने बताया कि इस वर्ष सामूहिक विवाह समारोह की एक विशेषता यह भी रहेगी कि विवाह समारोह में भाग लेने वाले दंपतियों उनके अभिभावकों तथा अन्य गणमान्य नागरिकों को लोकतंत्र की मज़बूती के लिए मतदान अवश्य करने की शपथ भी दिलाई जाएगी। ट्रस्ट के सचिव अतुल कांत द्विवेदी ने बताया कि समारोह के मुख्य अतिथि यूपी स्टेट वेस्ट मैनेजमेंट के चेयरमैन न्यायमूर्ति देवी प्रसाद सिंह होंगे और विशिष्ट अतिथि के रूप में सेवानिवृत्त आईएएस और जनपद के पूर्व जिला अधिकारी एके सिंह राठौर उपस्थित रहेंगे। जिन अन्य महत्वपूर्ण हस्तियों के रहने की सूचना है उनमें सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति खेमकरण, सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति अश्वनी कुमार सिंह, सेवानिवृत्त आईएएस पूर्व गृह सचिव मणि प्रसाद मिश्र आदि भी समारोह में पधार रहे हैं।

ट्रस्टी आलोक श्रीवास्तव व करुणा शंकर द्विवेदी ने बताया कि हिंदू विवाह गायत्री विधि से अतुल कपूर और उनकी टोली द्वारा संपन्न कराए जाएंगे जबकि मुस्लिम निकाह ट्रस्टी फखरुल इस्लाम के नेतृत्व में शहर काज़ी द्वारा पढ़ाए जाएंगे। उन्होंने यह भी बताया कि अब तक ट्रस्ट द्वारा 756 से अधिक दंपत्तियों के विवाह सामूहिक विवाह समारोह में संपन्न कराए जा चुके हैं। उन्होंने यह भी जानकारी दी कि समारोह में भाग लेने वाले 9 दंपतियों का एक-एक लाख का दुर्घटना बीमा भी ट्रस्ट द्वारा कराया गया है।