कर्नाटक में काँग्रेस व जेडीएस सरकार के गिरने पर कांग्रेसियों ने महामहिम राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन दिया

0
7

आज काँग्रेस ने जनता के बहुमत से चुनी हुई कांग्रेस व जेडीएस की सरकार को असंवैधानिक तरीकों और खरीद फरोख्त(विधायकों) से गिराने की भाजपा की साजिश की जांच के संदर्भ मे महामहिम राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन एवं मांग पत्र सौंपा।

ज्ञापन में कहा गया कि आपको सादर अवगत कराना है कि भाजपा लगातार गैर भाजपा शासित सरकारों को अस्थिर करने का कुचक्र रच रही है। जो भारत देश के लिए दुर्भाग्य पूर्ण और लोकतंत्र की अस्मिता पर खतरा है। इसी क्रम में कर्नाटक मे भाजपा नेताओं की साजिश से असंवैधानिक तरीकों से विधायकों की खरीद फरोख्त करके जनता की चुनी हुई सरकार को गिरा दिया गया है।यह परम्परा एक लोकतांत्रिक देश के लिए दुखद है।महामहिम राष्ट्रपति उक्त विषय के संदर्भ मे उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी, लखनऊ अध्यक्ष राज बब्बर के प्रान्तीय आह्वान पर जिला कांग्रेस और शहर कांग्रेस कमेटी, हरदोई के द्वारा संयुक्त रूप से निवर्तमान जिलाध्यक्ष डॉक्टर राजीव सिंह लोध एवं शहर अध्यक्ष शशि भूषण शुक्ला शोले के नेतृत्व में ज्ञापन सौपा जा रहा है।

ज्ञापन/मांग पत्र की मांगे निम्न हैं

1-कर्नाटक मे कांग्रेस+जेडीएस गठबंधन की सरकार को गिराने की साजिश की सी.बी.आई.जांच हो
2-कर्नाटक मे कांग्रेस+जेडीएस गठबंधन की सरकार को गिराने की साजिश मे शामिल भाजपा नेताओं पर प्राथमिकी दर्ज हो। बागी विधायकों की भूमिका की जांच हो।
3-कर्नाटक में बागी विधायकों की सदस्यता समाप्त की जाये और उनकी सीटों पर पुनः चुनाव हो।
4-कर्नाटक में चुनी हुई सरकार को अस्थिर करने मे हुई खरीद फरोख्त की उच्च स्तरीय जांच हो।
5-भाजपा नेताओं के द्वारा गैर भाजपा शासित सरकारों को लगातार अस्थिर करने की प्रक्रिया और मंशा पर तत्काल रोक लगाई जाये। भाजपा द्वारा लोकतंत्र की हत्या को रोकने के लिए उचित कदम उठाएं।
6- बागी विधायकों और पार्टी छोड़ कर जाने वाले विधायकों के विगत एक माह के कॉल डिटेल और बैंक खातों एवं उनकी परिसम्पत्तियों की जांच कराई जाये।

आगे कहा गया है कि महामहिम आपसे देश हित मे अनुरोध है कि विधायकों और सांसदों की खरीद फरोख्त को रोकने के लिए दल बदल कानून को और सख्त बनाएं और सदस्यता समाप्ति एवं भविष्य मे दोबारा चुनाव लड़ने पर रोक लगाई जाये ताकि हॉर्स ट्रेडिंग की व्यवस्था पूर्ण रुपेण समाप्त हो सके।

कहा गया, आपसे अनुरोध है कि उक्त विषय जो परोक्ष रूप से लोकतंत्र से संदर्भित है, का स्वतः संज्ञान लेते हुए सम्बंधित अधिकारियों और विभागों को उचित दिशानिर्देश निर्गत करें।

ज्ञापन कार्यक्रम में प्रमुख रुप से देवेंद्र विक्रम सिंह, सुनीता मित्रा, ओमेंद्र वर्मा, पवन गुप्ता, आशुतोष गुप्ता, राजीव श्रीवास्तव, प्रेम प्रकाश वर्मा, अमीर अहमद, रियाज अहमद, गोविंद सिंह, विजय दीक्षित, पुनीत सिंह, सुंदर लाल शुक्ला, असद अहमद, लाल मोहम्मद, छोटे लाल, विष्णु कुमार, अजीज, गुड्डू, शिव कुमार सिंह, रमेश एवं कार्यकर्ता मौजूद रहे।