सवर्ण चेतना समिति ने विधानसभा सभा जाकर दिया ज्ञापन, जताया विरोध
सवर्ण चेतना सभा ने विधानसभा जाकर ज्ञापन उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा को सौंपा। ज्ञापन में कहा गया कि आपके संज्ञान में लाना चाहता हूँ कि जनपद हरदोई में 11 अक्टूबर 2018 को ज़िला प्रशासन द्वारा जी.आई.सी. मैदान में गिनीज़ बुक ऑफ़ वर्ल्ड रिकार्ड बनाने के लिए बालिका दिवस के अवसर पर जनपद की 11,000 बालिकाओं को बेटी बचाओ बेटी पढाओ कार्यक्रम के तहत बुलाया गया था।
आगे कहा गया कि कार्यक्रम में प्रशासन द्वारा खाना, पीने के पानी व धूप से बचने की कोई व्यवस्था नही की गई थी, कड़ी धूप के चलते सभी छात्राऐं परेशान हो गई थीं। शहर हरदोई के आर्य कन्या पाठशाला इण्टर कॉलेज पिहानी चुंगी शाखा की कक्षा 09 की छात्रा सुप्रिया शर्मा उम्र 14 वर्ष पुत्री नरेश चन्द्र शर्मा नि. प्रगति नगर देहात कोतवाली भी उस कार्यक्रम में शामिल हुई थी। तेज़ धूप के चलते व पानी की उपलब्धता न हो पाने के कारण छात्रा सुप्रिया बीमार हो गयी जिसे उनके परिजनों ने ज़िला अस्पताल में भर्ती कराया। दौरान ईलाज उसकी मृत्यु हो गई, छात्रा का परिवार अति गरीब है।
पुरज़ोर तरीके से अपनी बात रखते हुए कहा गया कि उपरोक्त प्रकरण में ज़िला प्रशासन पूरी तरीके से ज़िम्मेदार है। प्रशासन पूरी तरीके से मौन है और सरकार का कोई जन प्रतिनिधि भी इस गरीब पर ध्यान नहीं दे रहा है। बालिका की मौत प्रशासन की लापरवाही से ही हुई है, हम सब मांग करते हैं कि जल्द ही मृतका छात्रा के परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान की जाये और स्थानीय प्रशासन एंव आयोजक मंडल पर कठोर से कठोर कार्यवाही की जाये।
ज्ञापन देने वालों मे प्रमुख रूप से प्रदेश अध्यक्ष एडवोकेट हाईकोर्ट आदर्श दीपक मिश्र, प्रदेश मुख्य महासचिव धीरज सिंह चौहान, महिला सभा प्रदेश अध्यक्षा पूर्व सदस्य महिला आयोग गीता पान्डेय, प्रदेश उपाध्यक्ष संजीव मिश्र, मंडल अध्यक्ष लखनऊ सूरज सिह, प्रदेश महासचिव अनमोल बाजपेयी प्रमुख रूप से मौजूद रहे।
प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि ज्ञापन के दौरान सवर्ण चेतना सभा की मांग पर ज़िलाधिकारी हरदोई को उपमुख्यमंत्री ने दस लाख रूपया देने के निर्देश दिए।
फेसबुक से टिप्पणी करें