वर्षा जल की एक-एक बूंद को बचाना प्राथमिकता होनी चाहिए : जिलाधिकारी

0
6

कहा, जितनी आवश्यकता हो उतना ही जल का प्रयोग करें

हरदोई : विकास भवन के स्वर्ण जयंती सभागार में दीनदयाल अन्त्योदय योजना, राष्ट्रीय आजीविका मिशन की ओर से आयोजित जल शक्ति अभियान के तहत एक दिवसीय कार्यशाला का शुभारम्भ जिलाधिकारी पुलकित खरे ने दीप प्रज्ज्वलित कर एवं मां सरस्वती के चित्र पर माल्यापर्ण कर किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि वैज्ञानिकों के अनुसार वर्ष 2040 तक पृथ्वी पर पीने योग्य जल नहीं बचेगा, इस लिए हम सभी को इस गम्भीर समस्या के निपटने के लिए वर्षा जल की एक-एक बूंद को बचाना प्राथमिकता होनी चाहिए।

बैठक में जिलाधिकारी ने उपस्थित रोजगार सेवकों एवं टीए को सम्बोधित करते हुए कहा कि जब तक जल है, तब तक जीवन है के अन्तर्गत इस कार्यशाला से वैज्ञानिकों आदि से जल बचाने के सम्बन्ध में मिली जानकारी के अनुसार गांवों में गोष्ठी/चौपाल लगाकर पुरूष एवं महिलाओं को जल बचाने के लिए जागरूक करें और बताये कि आने वाले समय में हैण्ड पम्प आदि सब बेकार हो जायेगा और पेयजल की समस्या उत्पन्न होगी इसलिए सभी जितनी आवश्यकता हो उतना ही जल का प्रयोग करें बेकार में जल की बर्बादी न करें। उन्होने कहा कि इसके साथ सभी रोजगार सेवक एवं टीए गांवों में मनरेगा के अन्तर्गत होने वालेे कार्यो को चिन्हित करें और मनरेगा में मानव दिवस बढ़ाते हुए अधिक से अधिक ग्रामीणों को रोजगार दें तथा किसानों को भी जागरूक करें कि वह ऐसी फसलों को लगाये जो कम पानी में तैयार हो और अधिक उपज दे।

कार्यशाला में जिलाधिकारी ने कहा कि जल संचयन के सम्बन्ध में सरकारी कार्यालयों सहित व्यक्ति आवासों में वाटर हार्वेस्टिंग के माध्यम से जल का संचयन करें ताकि आने वाली पीढ़ी के लिए पानी की बचत हो सके। उन्होने कहा कि रोजगार सेवक एवं टीए लोगों को बताएं कि घरेलू कार्यो जैसे बर्तन, कपड़े धोने, खाना बनाने, नहाने एवं वाहन आदि की धुलाई के लिए कम से कम पानी का प्रयोग करें और जल बचाने के लिए अन्य लोगों को भी प्रेरित करें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आनन्द कुमार ने भी अपने सम्बोधन में कहा कि जल है तो जीवन है, इसलिए हम सभी स्वयं जल बचाने के साथ आम जनमानस को भी जल संचयन के लिए जागरूक करें।

कार्यशाला में जिलाधिकारी ने अपने कार्यालय एवं ब्लॉक पर जल संचयन हेतु वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगवाने पर सहायक निदेशक मत्स्य एके शुक्ला, जिला विकास अधिकारी/बीडीओ पिहानी राजित राम मिश्रा, उप जिलाधिकारी बिलग्राम सत्येन्द्र सिंह, बीडीओ अहिरोरी पीएन यादव, अधिशासी अभियंता जल निगम अरविन्द कुमार त्रिपाठी तथा अपर अभियंता पवन कुमार सिंह को जल शक्ति प्रमाण पत्र प्रदान किये। कार्यशाला में पीडी श्रीनिवास, सहायक निदेशक कुमकुम शर्मा सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी, खण्ड विकास अधिकारी, रोजगार सेवक एवं टीए आदि मौजूद रहे।