आज जिला कांग्रेस कमेटी हरदोई के जिला अध्यक्ष डॉ राजीव सिंह लोध के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का पुतला शहर के नुमाइश चौराहे पर फूंका गया और योगी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गई।

पुतला दहन कार्यक्रम से पूर्व कैम्प कार्यालय बाबू किंदर लाल की कोठी पर जिला सचिव प्रभारी डीसीसी एससी/ एसटी विभाग की मासिक बैठक विनीत वर्मा के नेतृत्व में संपन्न हुई। बैठक की अध्यक्षता डॉक्टर राजीव सिंह ‘लोध’ ने की। संचालन जिला मीडिया प्रभारी भुटटो मिया ने किया। बैठक को संबोधित करते हुए जिला अध्यक्ष डॉ राजीव सिंह लोध ने कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में दलितों पर अत्याचार और दुराचार की घटनाएं बढ़ी हैं। योगी सरकार की पुलिस दलाली करने में व्यस्त है। योगी आदित्यनाथ जुर्म को बढ़ावा दे रहे हैं। जनता इनकी संवेदनहीनता का तमाशा देख रही है। योगी आदित्यनाथ की पुलिस अवैध शराब को बढ़ावा दे रही है जिसके कारण सहारनपुर में 90 लोगों की मौत हो गई और प्रदेश सरकार संवेदनहीन बनकर तमाशा देख रही है। कहा, योगी सरकार बहुमत का अपमान कर रही है।

महिला अध्यक्ष सुनीता देवी ने कहा कि योगी सरकार में महिलाऐं सर्वाधिक असुरक्षित हैं। भाजपा नेता ही महिलाओं का शोषण कर रहे हैं। मीडिया प्रभारी भुटटो मिया ने कहा कि योगी जी प्रदेश में भय का वातावरण बना रहे हैं। अपनी नाकामी को छुपाने के लिए देश का माहौल खराब कर रहे हैं। जिला अध्यक्ष एनएसयूआई / प्रवक्ता – जिला कांग्रेस कमेटी अमलेंद्र त्रिपाठी ने कहा कि सरकार नौकरी देने में असफल रही है और झूठे आंकड़े पेश कर रही है। प्रदेश में करोड़ों युवा बेरोजगार हो गए सरकार गाय की राजनीति कर रही है। कहा, कल योगी सरकार की पुलिस द्वारा बेची जा रही देसी शराब के कारण सैकड़ों लोगों की मृत्यु हुई है जिसकी जिम्मेदारी मोदी सरकार की है और सरकार को पीड़ित परिवार के लोगों को ₹5 लाख मुआवजा देना चाहिए। डीसीसी प्रभारी अनुसूचित जाति विनीत वर्मा ने कहा कि योगी सरकार में दलितों पर अत्याचार बढ़ा है।

उक्त कार्यक्रम में प्रमुख रुप से महासचिव अमीर अहमद, वृंदावन श्रीवास्तव, पवन गुप्ता, मुकेश पासी, राजीव श्रीवास्तव, शिव कुमार गुप्ता, शिव कुमार सिंह, जोगेंद्र सिंह, मिथिलेश कुमार, अवधेश मौर्य, मोहम्मद जहीर, राजू नाई, विजय दीक्षित, गोविंद सिंह सहित दर्जनों लोग मौजूद रहे।